सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

लखनऊ में होगी चुनाव आयोग की बैठक,जनवरी के दूसरे सप्ताह तक यूपी चुनाव की तारीखों का ऐलान

 


 मेरठ में उप चुनाव आयुक्त डा. चंद्रभूषण कुमार ने बताया कि क्रिसमस के आसपास राजधानी लखनऊ में चुनाव आयोग की फुल बेंच मीटिंग होगी। उसके बाद जनवरी के पहले या दूसरे सप्ताह में चुनाव की घोषणा हो जाएगी। सारी तैयारी इसके तहत पहले कर ली जाए। इसका संकेत वह अधिकारियों को दे गए। मेरठ कमिश्नरी कार्यालय में आयोजित बैठक में चुनाव आयोग के अधिकारियों ने कहा कि अगले कुछ दिनों में भारत निर्वाचन आयोग में भी बैठक होगी। उसके बाद क्रिसमस के आसपास लखनऊ में भी आयोग की फुल बेंच मीटिंग होगी। सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों की इस बैठक में आयोग की ओर से विशेष निर्देश दिए जाएंगे। साथ ही जिला निर्वाचन अधिकारियों द्वारा प्रस्तुतीकरण दिया जाएगा। उसके बाद जनवरी के पहले या दूसरे सप्ताह में चुनाव की घोषणा के साथ आचार संहिता लागू हो जाएगी, तब तक सारी तैयारी पूर्ण कर लें। विधानसभा चुनाव-2022 में मेरठ मंडल बूथों की व्यवस्था के लिए प्रदेश में मॉडल बनेगा। कुल 13 हजार 299 बूथों में से अधिक से अधिक में साफ-सफाई और मतदाताओं के लिए विशेष व्यवस्था रहेगी। मेरठ मंडल के कमिश्नर सुरेन्द्र सिंह ने बैठक में बताया कि सभी बूथ, मतदान केंद्रों पर आयोग द्वारा निर्धारित एश्योरड मिनीमम फैसिलिटी (एएमएफ) सुनिश्चित की जाएगी। अधिक से अधिक बूथों पर ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि मतदान कर्मियों, मतदान करने वाले लोगों को भी सभी आवश्यक वस्तुएं जैसे साबुन, तेल, बाल्टी, मच्छर भगाने की क्वाइल आदि उपलब्ध कराई जाएगी। मतदान कर्मियों के लिए नाश्ते व भोजन की अच्छी व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने कहा कि ऐसा महसूस होगा घर जैसा वातावरण बूथों पर लगे। उधर, उप निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि सभी मतदान कर्मियों को निर्धारित मानक के अनुसार फेस मास्क, सर्जिकल ग्लव्स, सैनिटाइजर आदि की व्यवस्था भी कराई जाए। कोविड प्रोटोकाल का पालन न होने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। उपचुनाव आयुक्त ने कहा कि जिन बूथों, मतदान केंद्रों पर महिला वोटर अधिक हों तो वहां वूमैन मैनेजड पोलिंग स्टेशन बनाए जाएं। महिलाओं को मतदान की विशेष सुविधा हो। अच्छे कार्य को हाईलाइट करें। 

टिप्पणियाँ

Popular Post