सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

अखिलेश ने बना रखा है पिता मुलायम को बंधक: प्रमोद गुप्ता

यू.पी में जैसे ही विधानसभा चुनाव का वक्त नजदीक आता जा रहा है दल-बदल का खेल भी चरम पर है । आपको बता दें कि बिधूना विधानसभा से विधायक विनय शाक्य और उनके भाई के सपा में शामिल होने के बाद से सियासी पारा और गर्म हो गया है।इसी क्रम में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के साढ़ू प्रमोद गुप्ता उर्फ एलएस भी पाला बदलने का ऐलान कर चुके हैं। जैसा की खबर है कि वह भाजपा में शामिल होने के लिए लखनऊ पहुंच चुके हैं। उनके भाजपा में जाने के बाद बिधूना की सियासत में एक बार फिर से उलट फेर के आसार दिख रहे हैं। माना ये जा रहा है कि सपा से प्रमोद प्रबल दावेदार थे लेकिन विनय व उनके समर्थकों के शामिल से होने से चुनावी गणित गड़बड़ा गई। वहीं कुछ लोग इसे प्रसपा सुप्रीमो शिवपाल द्वारा टिकट बंटवारे को लेकर अंदर खाने मची रार का असर बता रहे हैं। आपको मालूम हो बिधूना विधान सभा में प्रमोद गुप्ता एलएस पिछड़ी जाति पर अच्छी पकड़ रखते हैं। मुलायम सिंह की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता ;अब साधना यादवद्ध के बहनोई हैं और मुलायम सिंह के साढू। वह एक बार टिकट न मिलने पर निर्दलीय नगर पंचायत का चुनाव लड़े और जीते थे। इसके बाद 2012 में सपा ने प

उत्तराखंड में कोरोना: पिछले 24 घंटे में मिले 17 नए संक्रमित, दोबारा रेलवे स्टेशन पर आरटीपीसीआर-एंटीजन टेस्ट शुरू

 


 प्रदेश के दो जिलों में बीते 24 घंटे में 12 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं। जबकि 14 स्वस्थ हुए हैं। 139 सक्रिय मरीजों का इलाज चल रहा है। कुल संक्रमितों की संख्या 344471 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक सोमवार को 11988 सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है।12 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। देहरादून जिले में 11 और चंपावत जिले में एक संक्रमित मिला है। बाकी 11 जिलों में कोई संक्रमित मामला सामने नहीं आया गया। कोरोना मरीजों की मौत नहीं हुई है। 14 मरीजों को ठीक होने के बाद घर भेजा गया है। इन्हें मिला कर 330744 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश की रिकवरी दर 96.02 प्रतिशत और सैंपल जांच के आधार पर संक्रमण दर 0.10 प्रतिशत दर्ज की गई।नैनीताल हाईकोर्ट ने हरिद्वार कुंभ मेले में कोरोना टेस्टिंग फर्जीवाड़े के आरोपी मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेज के सर्विस पार्टनर शरत पंत और मलिका पंत के जमानत प्रार्थना पत्र पर सुनवाई के बाद सरकार को 24 दिसंबर तक जवाब दाखिल करने के निर्देश दिए हैं।न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे की एकलपीठ के समक्ष मामले की सुनवाई हुई। शरत पंत और मलिका पंत ने हाईकोर्ट में जमानत प्रार्थनापत्र दायर कर कहा था कि वे मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेस में एक सर्विस प्रोवाइडर हैं। हरिद्वार कुंभ के दौरान कोरोना परीक्षण और डाटा प्रविष्टि के दौरान मैक्स कॉरपोरेट का कोई कर्मचारी मौजूद नहीं था। परीक्षण और डाटा प्रविष्टि का सारा काम स्थानीय स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की प्रत्यक्ष निगरानी में किया गया था। इन अधिकारियों की मौजूदगी में परीक्षण स्टॉलों ने जो कुछ भी किया था उसे मैक्स कॉरपोरेट सर्विसेज ने अपनी मंजूरी दी थी। अगर कोई गलत कार्य कर रहा था तो वह हरिद्वार कुंभ मेले के दौरान अधिकारी चुप क्यों रहे। उत्तराखंड समेत देश के तमाम राज्यों में कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही सरकार, शासन और स्वास्थ्य महानिदेशालय के निर्देश पर रेलवे स्टेशन पर दोबारा यात्रियों की आरटीपीसीआर और एंटीजन जांच शुरू कर दी गई है। शासन के निर्देश पर सोमवार को रेलवे स्टेशन पर स्वास्थ विभाग की टीम ने सुबह से ही यात्रियों की आरटीपीसीआर के साथ ही एंटीजन टेस्ट शुरू कर दिया है।रेलवे स्टेशन पर नंदा देवी एक्सप्रेस, काठगोदाम एक्सप्रेस, लिंक एक्सप्रेस, शताब्दी एक्सप्रेस, जनशताब्दी एक्सप्रेस समेत तमाम ट्रेनों से आने वाले यात्रियों की जांच की गई। यात्रियों की आरटीपीसीआर व एंटीजन जांच किए जाने की वजह से यात्रियों को थोड़ी परेशानियों का भी सामना करना पड़ा। हालांकि जिलाधिकारी डॉ.आर राजेश कुमार का कहना है कि फिलहाल रेलवे स्टेशन के अलावा बस स्टैंड व जिले की सीमाओं पर स्थित चेकपोस्टों पर यात्रियों की रैंडम जांच की जा रही है। ऐसे तमाम यात्रियों पर पैनी नजर रखी जा रही है जिन्होंने कोरोना टीके की दूसरी डोज नहीं लगवाई है और यात्रा करने से 72 घंटे पहले उनका आरटीपीसीआर व एंटीजन टेस्ट नहीं हुआ है।जिलाधिकारी डॉ.आर राजेश कुमार ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि वे ऐसे तमाम यात्रियों की कोरोना जांच करें जिनके कोरोना संक्रमित होने की संभावना लगती है। फिलहाल यात्रियों की रैंडम जांच की जा रही है। साथ ही यह भी कहना है कि यदि कोरोना संक्रमण बढ़ता है तो सभी यात्रियों की जांच की जाएगी। दूसरी ओर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की कोरोना जांच के चलते यात्रियों को परेशानियों का भी सामना करना पड़ा। ट्रेनों से आने वाले सभी यात्रियों को स्टेशन परिसर के बाहर लंबी कतार में लगकर आरटीपीसीआर और एंटीजन टेस्ट कराना पड़ा। रेलवे स्टेशन के साथ ही आशारोड़ी चेकपोस्ट पर भी दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की रैडम आरटीपीसीआर व एंटीजन टेस्ट किया गया। सुकून देने वाली बात यह रही कि स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा किए गए एंटीजन टेस्ट में किसी भी व्यक्ति कोरोना संक्रमित नही पाया गया। जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार का कहना है कि आशारोड़ी समेत जिले में जितने भी चेकपोस्ट स्थापित किए गए हैं, वहां स्वास्थ्य विभाग की टीमों को तैनात कर दूसरे राज्यों से आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच की जा रही है। 



टिप्पणियाँ

Popular Post