सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

मुंबई: उपनगरीय यात्रियों को रेलवे का तोहफा, आठ एसी लोकल चलाने का ऐलान

 


 कोरोना महामारी के कम होने के साथ ही रेलवे ने मुंबई वासियों को नई सुविधा प्रदान करने का ऐलान किया है। दरअसल, पश्चिमी रेलवे की ओर से यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए 8 नए अतिरिक्त वातानुकूलित एसी सेवाएं शुरू करने का निर्णय लिया गया है। आपको बता दें कि इन आठ एसी सेवाओं के शुरू होने के साथ ही एसी ईएमयू सेवाओं की संख्या बढ़कर 20 हो जाएगी। वर्तमान में यह 12 है। जिन नई 8 सेवाओं को शुरू करने का निर्णय लिया गया है उनमें चार अप दिशा की ओर है जबकि चार डाउन की ओर है तथा 1-1 प्रत्येक अप और डाउन दिशाओं के लिए होगी।

इसको लेकर पश्चिमी रेलवे की ओर से ट्वीट भी किया गया है। ट्वीट में लिखा गया है कि मुंबई उपनगरीय यात्रियों की सुविधा के लिए, पश्चिम रेलवे 22/11/2021 से 8 अतिरिक्त एसी ईएमयू सेवाएं शुरू करेगा। इन नई एसी सेवाओं के साथ, पश्चिम रेलवे पर एसी ईएमयू सेवाओं की कुल संख्या मौजूदा 12 से बढ़कर 20 हो जाएगी। वहीं रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि नई सेवाओं में से एक विरार और चर्चगेट के बीच है जबकि 2 बोरीवली और चर्चगेट के बीच है। इसके अलावा एक गोरेगांव और चर्चगेट के बीच है। इसी तरह डाउन दिशा में 4 सेवाएं हैं जिनमें से एक चर्चगेट और नालासोपारा के बीच है जबकि दो चर्चगेट और बोरीवली के बीच है और एक चर्चगेट और गोरेगांव के बीच है। हालांकि दो सेवाओं को रद्द करने का भी निर्णय लिया गया है। यह दोनों सेवाएं धीमी है। जिस सेवाओं को रद्द किया जा रहा है उनमें चर्चगेट और बांद्रा के बीच चलने वाली दो धीमी सेवाएं हैं। चर्चगेट से बांद्रा के लिए 9:07 पर जाने वाली लोकल ट्रेन तथा बांद्रा से चर्चगेट पर 9:45 पर जाने वाली लोकल ट्रेन को निरस्त किया गया है। वर्तमान में देखें तो पश्चिमी रेलवे की ओर से उपनगरीय सेवाओं की संख्या में लगातार इजाफा किया जा रहा है।  इन 8 ट्रेनों के शुरू होने के साथ ही उपनगरीय सेवाओं की कुल संख्या 1367 से बढ़कर 1373 हो जाएगी। 

टिप्पणियाँ

Popular Post