सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

नए वेरिएंट फैलने की आशंका : आश्रमों और गेस्ट हाउस में भी देना होगा अब कोरोना जांच का प्रमाणपत्र

  मथुरा / उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं। गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है। वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है। तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें। उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न

दून विश्वविद्यालय: खाने पर गुरु-शिष्यों में हाथापाई,छात्रों ने एडमिन ब्लॉक पर जड़ा ताला

 


 दून विवि में शुक्रवार को हुए बवाल के बाद आंदोलन कर रहे छात्रों ने शनिवार को एडमिन ब्लॉक पर ताला लगा दिया। इस दौरान उन्होंने सारे प्रशासनिक अधिकारियों को बाहर कर दिया। मौके पर पुलिस भी पहुंची छात्रों को समझाने का प्रयास करती रही।दून विश्वविद्यालय के कुलपति और रजिस्ट्रार पर घपलों का आरोप लगाकर चार दिन से धरना प्रदर्शन कर रहे छात्रों की शुक्रवार को शिक्षकों के साथ झड़प हो गई थी। छात्रों ने शिक्षकों पर अभद्रता और मोबाइल छीन कर फेंकने का भी आरोप लगाया है। इस संबंध में प्रदर्शनकारी छात्रों की ओर से शिक्षकों के खिलाफ पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज कराई गई है। विवि में हॉस्टल की मैस व कैफीटेरिया के लिए बिना टेंडर प्रक्रिया के अपने चहेतों को मैस चलाने का कार्य सौंपने का आरोप लगाते हुए विवि के छात्र परिषद से जुड़े छात्र प्रदर्शन के तीसरे दिन यानी शुक्रवार को धरना प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर के साथ कुछ शिक्षक प्रदर्शनकारी छात्रों से बात करने आए और प्रदर्शन समाप्त करने की मांग करने लगे।परिषद के अध्यक्ष सतेंद्र सिंह चौहान ने बताया कि बातचीत के दौरान वह अपने फोन से वीडियो बना रहे तो शिक्षक ने उनके हाथ से फोन छीन फेंक दिया और उनके साथ झड़प करने लगे। माहौल बिगड़ता देख कुछ देर में पुलिस भी विवि परिसर में पहुंच गई।छात्रों ने विवि प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए कहा कि विवि प्रबंधन हमारी मांगों का समाधान करने के बचाए हमें डराने-धमकाने का काम कर रहा है। जिससे गुस्साए छात्रों ने शिक्षकों के खिलाफ पुलिस चौकी में शिकायत दर्ज कराने के बाद विवि की प्रशासन भवन में ताला जड़ दिया। प्रदर्शनकारी छात्रों और शिक्षकों के बीच हुई झड़प का वीडियो दिनभर सोशल मीडिया पर वायरल होता रहा।



टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव