सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

उत्तराखंड: विंटर टूरिज्म पर होगा फोकस,निवेश के लिए अनुकूल माहौल: महाराज

 


 पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि चारधाम यात्रा के बाद अब शीतकालीन पर्यटन (विंटर टूरिज्म) को बढ़ावा देने पर सरकार का फोकस है।हजारों लोग उत्तराखंड की सांस्कृतिक विरासत को देखने आते हैं। इसके लिए सरकार ऐसे डेस्टिनेशन को प्रचारित कर रही है, जो लोगों की आस्था से भी जुड़े हों। उत्तराखंड में निवेश के लिए अनुकूल माहौल है। इसके अलावा सरकार ने निवेशकों को प्रोत्साहित करने के लिए स्वीकृति प्रक्रिया को आसान बनाया है।पर्यटन मंत्री महाराज ने दिल्ली के प्रगति मैदान में 40वें अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेले में उत्तराखंड दिवस समारोह का उद्घाटन किया। मेले में उत्तराखंड के उत्पाद विशेष आकर्षण का केंद्र रहे। हथकरघा व हस्तशिल्प उत्पाद, बाल मिठाई, पहाड़ी दालें, मसाले, जड़ीबूटियां, शहद, बांस, रामबांस, भीमल के रेशे से तैयार उत्पादों को लोग काफी पंसद कर रहे हैं।महाराज ने कहा कि राज्य में निवेश को बढ़ावा देने और रोजगार सृजन के लिए सरकार कृत संकल्प है। राज्य में निवेश अनुकूल वातावरण तैयार कर निवेशकों को प्रोत्साहित किया जा रहा है। एकल खिड़की व्यवस्था के तहत उद्योगों को निर्धारित समय सीमा में सभी प्रकार की स्वीकृतियां तथा अनापत्तियां दी जा रही हैं।स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना व नैनो स्वरोजगार योजना लागू की गई है। हरित प्रदेश की अवधारणा को मूर्त रूप देने में मुख्यमंत्री सौर स्वरोजगार योजना लागू की गई है। राज्य में एक जिला दो उत्पाद योजना के माध्यम से चयनित उत्पादों को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलग पहचान मिलेगी।इस मौके पर मुख्य सचिव डॉ.एसएस संधू, महानिदेशक उद्योग रोहित मीणा, उद्योग निदेशक सुधीर चंद्र नौटियाल, उप निदेशक शैली डबराल, उप निदेशक राजेंद्र कुमार, मेलाधिकारी केसी चमोली, प्रदीप सिंह नेगी, गिरीश चंद्र आदि मौजूद रहे।



टिप्पणियाँ

Popular Post