सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

नए वेरिएंट फैलने की आशंका : आश्रमों और गेस्ट हाउस में भी देना होगा अब कोरोना जांच का प्रमाणपत्र

  मथुरा / उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं। गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है। वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है। तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें। उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न

15 घंटे में गाजीपुर से लखनऊ पहुंचा रथ,रात भर चला पूर्वांचल एक्‍सप्रेस वे परअखिलेश का मेगा शो

 


प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी द्वारा उद्घाटन किए जाने के अगले ही दिन पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे पर उतरे सपा प्रमुख अखिलेश यादव का मेगा शो चार बजे तकचलता रहा। अखिलेश के रथ ने 345.6 किलोमीटर का यह सफर 15 घंटे में पूरा किया, वो भी उस पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे से जिस पर चलकर यह दूरी चार घंटे में पूरी की जा सकती है। एक्‍सप्रेसवे से पहले गाजीपुर से लखनऊ पहुंचने में करीब सात से साढ़े सात घंटे का वक्‍त लगता था। अखिलेश की रथयात्रा को कई गुणा वक्‍त जगह-जगह उमड़ी भीड़ और सपा कार्यकर्ताओं के उत्‍साह के चलते लग गया। यात्रा में ओमप्रकाश राजभर भी उनके साथ रहे। इस मौके पर समाजवादी पार्टी ने रात भर हर घंटे रथ यात्रा की तस्‍वीरें और वीडियो ट्वीट कर पूर्वांचल में अपनी सियाती ताकत की मजबूती का बखान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। समय की जानकारी के साथ गाजीपुर से मऊ, आजमगढ़, सुल्‍तानपुर, अमेठी, अम्‍बेडकरनगर, फैजाबाद और बाराबंकी सपा के अधिकारिक ट्विटर हैंडल पर हर जगह से वीडियो और तस्‍वीरें ट्वीट की जाती रहीं। जगह-जगह रथयात्रा के स्‍वागत के लिए जुटी भीड़ की वजह से अखिलेश को गाजीपुर से पहुंचने में ही पांच घंटे की देर हो गई। जबकि सात घंटे की देरी से रथयात्रा आजमगढ़ पहुंची। अखिलेश 12:30 बजे गाजीपुर से चले थे और शाम को 7:30 बजे आजमगढ़ पहुंचे। मऊ जिले की सीमा अहिलाद पुलिया के पास उस्‍मानपुर और मुहम्‍मदाबाद गोहना में कार्यकर्ता सुबह से अखिलेश का इंतजार कर रहे थे।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव