सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

करतारपुर पहुंचे सिद्धू ने इमरान खान को बताया बड़ा भाई,भाजपा ने घेरा

 


 करतारपुर साहिब में मत्था टेकने के लिए पाकिस्तान पहुंचे पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष इमरान खान एक बार फिर विवादों में घिर गए हैं। करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के मौके पर पाक सेना चीफ बाजवा को गले लगाकर विपक्ष के निशाने पर आए सिद्धू ने अब पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अपना बड़ा भाई बताया है। इसका वीडियो सामने आने के बाद भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने सिद्धू को घेर लिया है। करतारपुर में शनिवार को दर्शन के लिए पहुंचे सिद्धू का यहां पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने स्वागत किया। फूल बरसाए गए और माला पहनाई गई। करतारपुर के सीईओ ने सिद्धू का स्वागत करते हुए कहा, 'इमरान खाान की ओर से आपका स्वागत करता हूं।'' इस पर सिद्धू ने कहा, ''इमरान खान मेरा बड़ा भाई है। उसने मुझे बहुत प्यार दिया है।''

गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान राजनीति में आने से पहले क्रिकेटर रहे हैं और अपने देश के लिए खेल चुके हैं। ऐसे में दोनों में दोस्ताना संबंध होना लाजिमी है, लेकिन इमरान इन दिनों भारत में आतंकवाद को बढ़ाने में व्यस्त हैं। ऐसे में उन्हें 'बड़ा भाई' बताना राजनीतिक मुद्दा बन सकता है। यह बयान ऐसे समय में आया है जब पंजाब में कुछ ही महीनों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। बीजेपी से गठबंधन करने जा रहे पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर पहले ही आरोप लगाते रहे हैं कि सिद्धू के इमरान और बाजवा से करीबी रिश्ते हैं।

टिप्पणियाँ

Popular Post