सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

UPPSC राज्य सेवा मुख्य परीक्षा का कार्यक्रम जारी,UPSC सिविल सेवा मुख्य परीक्षा टालने की मांग



नई दिल्ली : यूपीएससी की मुख्य परीक्षा और उत्तर प्रदेश राज्य सेवा मुख्य परीक्षा की तैयारी में जुटे उम्मीदवारों के लिए अपडेट। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा सिविल सेवा (प्रधान) परीक्षा 2021 का आयोजन 7 जनवरी से 16 जनवरी 2022 तक तीन-तीन घंटे की दो पालियों में आयोजित किए जाने की समय-सारणी जारी की जा चुकी है। इसके साथ ही, आयोग ने सिविल सेवा मुख्य परीक्षा में डीएएफ भरे उम्मीदवारों के प्रवेश पत्र भी जारी कर दिए गए हैं। अब जबकि यूपीएससी द्वारा सिविल सर्विसेस (मेन) एग्जाम 2021 का आयोजन इस शुक्रवार से करने जा रहा है, तो परीक्षा की तैयारी मे जुटे उम्मीदवार आयोग से परीक्षा को फिलहाल स्थगित करने की मांग कर रहे हैं। उम्मीदवार देश भर में लगातार बढ़ते जा रहे ओमीक्रोन के संक्रमण के मामलों के मद्देनजर सोशल मीडिया के माध्यम से डिमांड कर रहे हैं कि परीक्षा का आयोजन टाल दिया जाए।दूसरी तरफ, यूपी पीसीएस मुख्य परीक्षा 2021 के लिए उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने कार्यक्रम जारी कर दिया है। आयोग द्वारा सोमवार, 3 जनवरी 2022 को जारी नोटिस के अनुसार, सम्मिलित राज्य/प्रवर अधीनस्थ सेवा सामान्य चयन (मुख्य) परीक्षा – 2021 का आयोजन 28 जनवरी से 31 जनवरी तक तीन-तीन घंटे की दो पालियों में किया जाएगा। इसके साथ ही, यूपीपीएससी ने मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए जरूरी ऑनलाइन आवेदन की आखिरी तारीख को बढ़ा दी है। आयोग के एक अन्य नोटिस के अनुसार उम्मीदवार मुख्य परीक्षा के लिए अब 6 जनवरी 2022 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इससे पहले आवेदन की अंतिम तिथि 28 दिसंबर 2021 थी। साथ ही, ऑनलाइन आवेदन की हार्ड कॉपी को मांगे गये डॉक्यूमेंट्स के साथ जमा कराने की आखिरी तारीख भी बढ़ाकर 13 जनवरी कर दी गयी है, पहले यह तारीख 4 जनवरी 2 022 थी।ऐसे में क्या केंद्रीय आयोग या यूपी राज्य आयोग द्वारा सिविल सेवा या राज्य सेवा की मुख्य परीक्षाओं को स्थगित किया जाएगा? इस प्रश्न पर फिलहाल कोई अपडेट उपलब्ध नहीं है, भले ही उम्मीदवार मांग कर रहे हैं।

टिप्पणियाँ

Popular Post