सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

उत्तर प्रदेश में फिर लग सकता है वीकेंड लॉकडाउन ?



कोरोना के नए वैरिऐंट आमीक्रोन के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं लिहाजा बढ़ते केस के मददेनजर उत्तर प्रदेश में और भी सख्ती बरती जा सकती है। वहीं कई अैर पाबंदियां बढ़ाई जा सकती हैं इसको लेकर राज्य स्तर पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों के पैनल के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ आज समीक्षा करेंगे। सीएम योगी कोविड की बदलती परिस्थितियों के बीच इस समिति से सलाह लेंगे। सूत्रों के अनुसार सिनेमाहॉल,मॉल,स्वीमिंग पूल सहित वीकेंड कर्फ्यू पर कोई निर्णय किया जा सकता है लेकिन अभी इसकी कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं है। आपको बता दें कि सीएम योगी ने कल बैठक में अधिकारियों को कोरोना संक्रमण को देखते हुये सतर्कता बरतने के लिए कहा था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि बदले हुए हालात में जरूरी है कि जीनोम सिक्वेंसिंग के साधनों में बढ़ोतरी की जाए, गोरखपुर,झांसी,गाजियाबाद के प्रमुख चिकित्सा संस्थानों और एसजीपीजीआई लखनऊ में भी इसकी सुविधा तत्काल उपलब्ध कराई जाए। इसमें  विलम्ब नहीं होना चाहिए इसे शीर्ष प्राथमिकता दी जाए।

सीएम योगी ने कहा कि कोविड केस की बढ़ोतरी को देखते हुए राज्य सरकार पूरी तरह से अलर्ट है। ओमिक्रोन वेरिएंट की संक्रामकता के संबंध में विशेषज्ञों का मानना है कि यह वैरिएंट तीव्र संक्रामक है लेकिन पूर्व के वैरिएंट की तुलना में वैक्सीनेटेड लोगों के लिए बड़ा खतरा नहीं है। लोगों अनावश्यक पैनिक न हों उन्हें सही,सटीक और समुचित जानकारी दी जाए। जरूरी दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित कर की जाए। घर.घर मेडिकल किट वितरण के लिए पैकेट तैयार कर लिए जाएं।

 

टिप्पणियाँ

Popular Post