सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

उत्तराखंड : कड़ाके की ठंड पहाड़ में झरने और नाले जमे

 


 देहरादून  / उत्तराखंड में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है। पहाड़ों में कुछ जगह तापमान गिरने के कारण झरने और नाले तक जम गए हैं। मैदानों में सर्द हवाओं ने कंपकंपी बढ़ा दी है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में मौसम का मिजाज तेजी से बदल रहा है। पहाड़ी जिलों में हल्की बारिश के साथ बर्फबारी की आशंका है। जबकि मैदानों में मौसम शुष्क बने रहने के साथ सर्द हवाएं परेशानी बढ़ा सकती हैं। वहीं, मसूरी में तापमान माइनस एक डिग्री बना हुआ है।प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण मौसम का मिजाज बदलने लगा है। पहाड़ों में बादल मंडरा रहे हैं, जिससे बारिश व बर्फबारी के आसार हैं। उत्तरकाशी में बराणी से लेकर गंगोत्री तक कई जगह झरने और नाले जम चुके हैं। इसी क्षेत्र में गंगा (भागीरथी) के जिस हिस्से में पानी का बहाव कम है वहां भी पानी बर्फ बन चुका है।चारों धाम में न्यूनतम तापमान माइनस पांच से छह डिग्री सेल्सियस पहुंच गया है। मैदानों में न्यूनतम पारे में गिरावट आई है। दून समेत ज्यादातर इलाकों में पारा सामान्य से चार डिग्री सेल्सियस नीचे पहुंच गया है। जिससे सुबह और शाम कड़ाके की ठंड सता रही है।मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक शुक्रवार को राज्य के पहाड़ी इलाकों में मौसम का मिजाज बदल सकता है। उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में हल्की बारिश व बर्फबारी हो सकती है।

jagran


केदारनाथ में ठंड ने रोकी निर्माण कार्यों की रफ्तार
केदारनाथ में इन दिनों तापमान माइनस 15 डिग्री तक पहुंच रहा है, जिससे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के तहत हो रहे पुनर्निर्माण कार्य प्रभावित हो रहे हैं। तीन सौ से अधिक मजदूर केदारनाथ से वापस लौटे चुके हैं। हालांकि खून जमाने वाली ठंड में भी 70 मजदूर व अन्य कर्मचारी अब भी केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्यों को अंजाम दे रहे हैं, लेकिन कार्यों की रफ्तार सुस्त पड़ गई है।

टिप्पणियाँ

Popular Post