सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

फिर पुलिस के हाथों फिसला मोस्ट वांटेड पनडुब्बी उर्फ नदीम,जिसकी तीन राज्यों की पुलिस कर रही तलाश

 


कन्नौज /  नदीम उर्फ पनडुब्बी तीन राज्यों की पुलिस के लिए चुनौती बन गया है और उसे अबतक पकड़ा नहीं जा सका है। कन्नौज के ताजपुर नौकास्त मोहल्ले में छिपा पनडुब्बी एक बार फिर पुलिस के हाथ से फिसल गया। पुलिस की घेराबंदी धरी की धरी रह गई और वह छत से कूदकर भाग निकला। दरअसल पहचान से अनजान सिपाही उससे ही उसका नाम पूछने की गलती कर बैठे और वह चकमा देकर भागने में कामयाब हो गया। पुलिस अपने सामने अपराधी के भाग जाने से हाथ मलती रह गई। एसपी ने हिस्ट्रीशीटर की तलाश में पुलिस के स्पेशल आपरेशन ग्रुप (एसओजी) को भी लगाया है।कन्नौज सदर कोतवाली अंतर्गत मोहल्ला ताजपुर नौकास्त स्थित पुराने मकान में हिस्ट्रीशीटर पनडुब्बी छिपा था। शेखाना चौकी प्रभारी किशनवीर सिंह ने एसएसआइ सुरेंद्र सिंह के साथ मकान की घेरा बंदी की। पूरे मकान की तलाशी लेने के बाद जब हिस्ट्रीशीटर पनडुब्बी नहीं मिला तो एसएसआइ सुरेंद्र दो सिपाहियों के साथ छत पर गए। एसएसआइ के मुताबिक, छत पर एक व्यक्ति बैठा था।

सिपाही उसे पहचानते नहीं थे। जब उन्होंने नाम पूछा तो वह छत से नीचे कूदकर भाग गया। दो दिन पहले पनडुब्बी की तलाश में दबिश देने गई पुलिस ने 35 क्विंटल चंदन की लकड़ी बरामद की थी। उन्होंने दावा किया कि भागने वाला व्यक्ति ही पनडुब्बी था, जिसे अब पहचान लिया गया है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।हिस्ट्रीशीटर नदीम उर्फ पनडुब्बी शहर के मोहल्ला शेखाना का निवासी है और चंदन लकड़ी का बड़ा तस्कर है। राजस्थान, महाराष्ट्र व मध्यप्रदेश पुलिस को भी उसकी तलाश है। जिले में उसपर लूट, अपहरण, हत्या, चोरी व चंदन लकड़ी की तस्करी के 25 मुकदमे दर्ज हैं। जिले के टाप टेन अपराधियों की सूची में उसका नाम चौथे नंबर पर दर्ज है।इसके अलावा राजस्थान में चंदन की लकड़ी चोरी करने, मध्य प्रदेश व महाराष्ट्र में भी कई मुकदमे हैं।

-जिले के हिस्ट्रीशीटर अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगाई गई हैं। सभी थाना प्रभारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

 -प्रशांत वर्मा, एसपी कन्नौज।

टिप्पणियाँ

Popular Post