सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

वाराणसी: मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन में हिस्सा लेंगे उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी, कर सकते हैं अयोध्या का भी दौरा

 


 देहरादून /  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सोमवार को श्रीकाशी विश्वनाथ धाम के लोकार्पण समारोह में शामिल होंगे। इसके बाद वह वाराणसी में ही होने वाले भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे। यहां वह राज्य में केंद्र व राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन से संबंधित विषय पर चर्चा करेंगे। मंगलवार को वह भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ अयोध्या का दौरा भी कर सकते हैं।मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सोमवार सुबह वाराणसी के लिए रवाना होंगे। उनके साथ मंत्रिमंडल के कुछ सदस्य भी वाराणसी जा सकते हैं। वाराणसी में मुख्यमंत्रियों के सम्मेलन के दौरान उत्तराखंड में चल रही केंद्रीय योजनाओं व राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं के बारे में भी प्रस्तुतिकरण दिया जाएगा। इसके लिए शासन के वरिष्ठ अधिकारी भी मुख्यमंत्री के साथ वाराणसी जाएंगे। रविवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास में विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान संबंधित विभागीय सचिवों ने प्रस्तुतिकरण के माध्यम से योजनाओं की प्रगति के बारे में अवगत कराया।मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्य सरकार द्वारा संचालित होम स्टे योजना को राज्य की संस्कृति एवं पर्यटन को बढ़ावा देने वाली योजना बताया है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में विशेष प्रयास की जरूरत है। प्रदेश में होम स्टे योजना तथा ट्रेकिंग ट्रेक्शन सेंटरों की स्थापना से राज्य के पर्यटन, साहसिक पर्यटन एवं आर्थिकी को बढ़ावा मिलेगा। बैठक में अपर मुख्य सचिव आनंद वद्र्धन, सचिव शैलेश बगोली, रविनाथ रमन, एसए मुरुगेशन, चंद्रेश कुमार व मुख्यमंत्री के मुख्य समन्वय प्रो दुर्गेश पंत समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

Popular Post