उत्तराखंड में वैक्सीनेशन जारी, हरिद्वार में कोविन पोर्टल का सर्वर डाउन



हरिद्वार में कोविन पोर्टल का सर्वर डाउन होने से वैक्सीनेशन कार्य रुका रहा। दोपहर 12.17 बजे ऑफ लाइन वैक्सीनेशन के लिए अनुमति मिली । करीब 47 मिनट तक वैक्सीनेशन नहीं हो पाया।मुख्यमंत्री दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे। जहां मुख्यमंत्री ने कहा कि वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। इस पर किसी भी प्रकार का भ्रम नहीं रहना चाहिए। केंद्र की ओर से प्रदेश को पहली खेप के रूप में राज्य को एक लाख 13 हजार वैक्सीन प्राप्त हुई हैं। पहले चरण में 50 हजार हेल्थ वर्कर्स को कोविड-19 की यह वैक्सीन लगाई जानी है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सहित वैक्सीनेशन निर्माण में लगे वैज्ञानिकों का आभार व्यक्त किया है। 

-राजधानी देहरादून के दून अस्पताल में पहला टीका वार्ड ब्वाय शैलेन्द्र को लगा। उन्हें अभी ऑब्जरवेशन में रखा गया है।

-काशीपुर एलडी भट्ट अस्पताल में 11.30 बजे तक 10 लोगों को कोरोना का टीका लगा। सभी को ऑब्जरवेशन रूम में रखा गया है। फिलहाल टीके से किसी को कोई परेशानी नही हुई है।

-पिथौरागढ महिला अस्पताल में पहला टीका  जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. कुंदन कुमार को 10.22 में लगा। पिथौरागढ़ में सीएमओ डॉ. एच सी पंत ने पहला टीका लगाया। 

-सीएमओ नैनीताल डॉ. भागीरथी जोशी ने जानकारी दी कि पीएम के सम्बोधन के बाद टीकाकरण शुरू हो गया है। 11.15 पर पहला टीका लगा है। यह पहला टीका एसटीएच के एमएस डॉ अरुण जोशी को लगा है।

-काशीपुर एलडी भट्ट अस्पताल में कोरोना नोडल अधिकारी अमरजीत सिंह को 11. 20 पर कोरोना का पहला टीका लगा, स्वास्थ्य कर्मियों ने ताली बजाकर स्वागत किया।

-कोटद्वार के बेस अस्पताल में कोरोना टीकाकरण जारी। शनिवार को 100 स्वस्थ कर्मियों को टीका लगाया जाएगा।

-नौगांव सीएच सी में फार्मासिस्ट गणेश प्रकाश डिमरी को पहला टीका लगाया गया।

-हरिद्वार जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रोशनाबाद में आशा कार्यकर्ती संजीता को पहला टीका 11:23  पर लगाया गया। दूसरा टीका रोशनाबाद की आशा कार्यकर्ता जोनी को 11:31 पर लगाया गया है।

-हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज में बनाए गए कोविड वैक्सीनेशन सेन्टर में 11.15 बजे सुशीला को कोविड का पहला टीका लगा। स्वास्थ्य विभाग की सीएमओ एवं वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने ताली बजाकर स्वागत किया।

- सभी स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकरण के बाद वैक्सीनेशन कार्ड दिया जा रहा है।

-जिला अस्पताल बागेश्वर में डॉक्टर मुन्ना लाल को सबसे पहले टीका लगा। दूसरा टीका डॉक्टर एजल पटेल और तीसरा टीका डॉक्टर अब्बास को लगा।

-टनकपुर ट्रामा सेंटर में टीकाकरण के उपरांत पर्यावरण मित्र दीपक कुमार एवं फार्मासिस्ट महेश भट्ट को निगरानी कक्ष में रखा गया।

-रुद्रपुर में एसीएमओ डॉ हरेंद्र मालिक को पहला टीका लगा।

-अल्मोड़ा बेस अस्पताल में डॉ. चंचल सिंह मर्चल को पहला टीका लगा। पहला टीका लगने के बाद अस्पताल के स्टाफ ने डॉक्टर मर्चल के साथ सेल्फी ली।

-अल्मोड़ा के हवालबाग अस्पताल में अनिता आर्या को पहली कोरोना कोरोना की वैक्सीन लगी।

-टिहरी जिले के बौराड़ी जिला अस्पताल में कार्यरत डॉ. रखी को पहला कोविशील्ड टीका लगा। संयुक्त चिकित्सालय नरेंद्रनगर में टीकाकरण अभियान शुरू किया गया।

-हरिद्वार जिला अस्पताल के पीएमएस डॉ. राजेश गुप्ता ने पहला कोविड टीका लगवाया।

बागेश्वर जिला अस्पताल में टीकाकरण शुरू हो गया है। टनकपुर में भी टीका लगना शुरू हो गया है। टनकपुर ट्रामा सेंटर में दीप प्रज्वलित एवं फीता काटकर टीकाकरण का उद्घाटन किया गया। यहां स्वास्थ्य विभाग के पर्यावरण मित्र दीपक कुमार को सबसे पहले कोरोना वैक्सीन लगी।वैक्सीनेशन अभियान की शुरूआत के बाद ऋषिकेश में सुबह 10 बजकर 40 मिनट पर पहला टीका लगाया गया। यह टीका स्वास्थ्य कर्मी शिव सिंह नेगी को लगाया गया। केंद्र की ओर से प्रदेश को पहली खेप के रूप में एक लाख 13 हजार वैक्सीन प्राप्त हुई हैं। पहले चरण में 50 हजार हेल्थ वर्कर्स को कोविड-19 की यह वैक्सीन लगाई जानी है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुबह साढ़े 10 बजे अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने वर्चुअली पूरे देश को संबोधित किया। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से दून मेडिकल कॉलेज और हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज अस्पताल से भी जुड़े। जबकि मुख्यमंत्री दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल से जुड़े। सभी जिलों में बने कोरोना वैक्सीनेशन केंद्रों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लाइव सुना गया। इसके बाद राज्य में कोरोना वैक्सीनेशन शुरू हो गया। हरिद्वार जिला महिला अस्पताल स्थित कोल चेनसेंटर से एम्बुलेंस के माध्यम से वैक्सीन सुबह 10.17 मिनट पर ऋषिकुल आयुर्वेदिक अस्पताल पहुंची।राजधानी देहरादून में दून अस्पताल की न्यू ओपीडी में होने वाले टीकाकरण स्थल में कुछ ही देर में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पहुंचेंगे। दून अस्पताल में सबसे पहले रेडियोलॉजी विभाग के तकनीशियन अभय नेगी को कोरोना का टीका लगाया जाना है। अभय नेगी पूर्व में कोरोना संक्रमित भी हो चुके हैं और पूरे कोरोना काल में दून अस्पताल में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

पहले दिन इन बूथों पर लगेगी वैक्सीन


देहरादून जिले में राजकीय दून मेडिकल कॉलेज, एम्स ऋषिकेश, हिमालय हाॅस्पिटल, श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल, एसपीएस उप जिला अस्पताल ऋषिकेश में हेल्थ वर्करों को वैक्सीन लगाई जाएगी। वहीं, हरिद्वार जिले में पीएचसी रोशनाबाद, ऋषिकुल आयुर्वेद विश्वविद्यालय, सीएचसी नारसन, कंबाइंड हाॅस्पिटल रुड़की, ऊधमसिंह नगर जिला में उप जिला अस्पताल काशीपुर, सीएचसी खटीमा, सीएचसी बाजपुर, जेएलएन जिला अस्पताल रुद्रपुुर, नैनीताल जिला में सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी, जिला अस्पताल हल्द्वानी, जिला अस्पताल नैनीताल, पौड़ी में जिला अस्पताल पौड़ी, बेस अस्पताल कोटद्वार, पिथौरागढ़ जिले में बीडी पांडे जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल, रुद्रप्रयाग जिले में जिला अस्पताल रुद्रप्रयाग, सीएचसी जखोली, टिहरी जिले में जिला अस्पताल बौराड़ी, उप जिला अस्पताल नरेंद्र नगर, उत्तरकाशी जिले में सीएचसी नौगांव, जिला अस्पताल उत्तरकाशी, चंपावत जिले में जिला अस्पताल चंपावत व ट्रामा सेंटर टनकपुर, चमोली जिले में जिला अस्पताल चमोली व उप जिला अस्पताल कर्णप्रयाग, बागेश्वर जिला में जिला अस्पताल बागेश्वर व सीएमओ कार्यालय बागेश्वर, अल्मोड़ा जिले में बेस हाॅस्पिटल व पीएचसी हवालबाग में पहले दिन हेल्थ वर्करों को टीका लगाया जाएगा।

आंकड़ों में टीकाकरण अभियान

- 1.13 लाख वैक्सीन मिली है केंद्र से पहली खेप में राज्य को

- 50 हजार स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का वैक्सीनेशन होना है पहले चरण में

- 34 स्वास्थ्य इकाइयों में शनिवार को 100 लोगों को वैक्सीन दी जाएगी

- 3400 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का  टीकाकरण होगा पहले दिन

- 10.30 बजे प्रधानमंत्री मोदी करेंगे वैक्सीनेशन का शुभारंभ

- 10.30 बजे पीएम दून और हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज से जुड़ेंगे

- मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र दून अस्पताल में शुभारंभ पर वर्चुअली जुड़ेंगे

 कुछ ही देर में देहरादून जिले भर में कोरोना वैक्सीन लगने का कार्य शुरू हो जाएगा। जिले में कुल 5 अस्पतालों में पहले चरण में फ्रंटलाइन स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वैक्सीन लगनी है। दून अस्पताल में कुछ ही देर में प्रधानमंत्री, वर्चुअली जुड़ेंगे।कोरोना वैक्सीनेशन के लिए केंद्रों में रजिस्ट्रेशन शुरू हो गया है। बागेश्वर में सीएमओ को कोरोना का पहला टीका लगाया जाएगा।उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिला महिला अस्पताल में शनिवार को करीब 80 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगेगा। बागेश्वर में दोनों केंद्रों टीकाकरण की वेब कास्टिंग की जाएगी। अभी यहां टीकाकरण शुरू नहीं होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन के बाद टीकाकरण शुरू होगा। वहीं कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर काशीपुर एलडी भट्ट अस्पताल का नर्सिंग स्टाफ बेहद खुश और उत्साहित है।राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में कोरोना टीकाकरण को लेकर तीन सेंटर बनाए गए हैं, जिसमें फिलहाल एक सेंटर ही काम करेगा। लेक्चर थियेटर कैंपस में मनाए गए सेंटर को आज कोरोना टीकाकरण में इस्तेमाल किया जाएगा। बाकी के अन्य सेंटरों पर कोरोना टीकाकरण बाद में शुरू किया जाएगा। यहां सुबह 8:40 पर राष्ट्रीय टीका पहुंचा है और 100 लोगों को टीका लगेगा।प्राचार्य सीपी भैंसोड़ा मौके पर पहुंचे और उन्होंने सभी तैयारियों का जायजा लिया। टीकाकरण प्रभारी डॉ. साधना अवस्थी को निर्देश दिए कि एम्बुलेंस को सही जगह खड़ा किया जाए और वाहनों की ज्यादा भीड़ न हो।सुबह 10:30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब राष्ट्र को संबोधित करेंगे, तब मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी के एमएस डॉ. अरुण जोशी उनके साथ संवाद करेंगे। डॉ. जोशी ने बताया कि उन्हें मेडिकल कॉलेज में कोरोना टीका के लिए पहला व्यक्ति होने की खुशी है। साथ ही वह इस बात को लेकर भी उत्साह में हैं कि पीएम मोदी से बात करेंगे।कोविड-19 महामारी को हराने के शनिवार को देशव्यापी टीकाकरण अभियान के लिए उत्तराखंड में सुबह से ही गतिविधियां तेज हो गई हैं। आज पहले दिन प्रदेश के सभी 13 जिलों में 34 बूथों पर तीन हजार से अधिक हेल्थ वर्करों को कोविड का टीका लगाया जाएगा। इसमें देहरादून जिले में पांच, हरिद्वार व ऊधमसिंह नगर जिले में चार-चार बूथ, नैनीताल में तीन और बाकी जिलों में दो-दो बूथों पर टीकाकरण किया जाएगा। पहले चरण में केंद्र की ओर से प्रदेश के 107530 सरकारी व निजी अस्पतालों के हेल्थ वर्करों, 1640 केंद्रीय स्वास्थ्य कर्मचारियों, 3450 आर्म्ड फोर्स मेडिकल सर्विसेस के कर्मचारियों के लिए वैक्सीन की डोज निर्धारित की गई है। केंद्र की ओर से टीकाकरण प्रक्रिया पर निगरानी रखने के लिए 34 टीकाकरण बूथों पर वेब कास्टिंग भी की जाएगी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सुबह साढ़े 10 बजे अभियान का शुभारंभ करेंगे। वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से दून मेडिकल कॉलेज और हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज अस्पताल से भी जुड़ेंगे और वहां स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से बातचीत भी करेंगे। जबकि मुख्यमंत्री दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल से जुड़ेंगे।



Sources:AmarUjala