सोशल मीडिया के जरिए ठगी करने वाले इंटरनेशनल रैकेट का भंडाफोड़, पुलिस ने 12 को किया गिरफ्तार

 

 सोशल मीडिया के अगर फायदे है तो उसके नुकसान भी है। अगर हम कहें कि सोशल मीडिया के जरिए ठगी करने का स्कोप भी बढ़ा है तो शायद आप सहमत भी होंगे। ऐसे कई मौके आए होंगे जब आपके सामने सोशल मीडिया के जरिए कोई लिंक आता होगा जिस पर क्लिक करके आपको यह कहा जाता होगा कि आप इसके जरिए पैसे कमा सकते हैं। आपने लालच में कई बार लिंग पर क्लिक किया होगा। लेकिन हो सकता है आप हर बार ठगी का शिकार ना हुए हो। पर सोशल मीडिया के जरिए लालच देकर ठगी करने वाले लोगों के एक इंटरनेशनल सिंडिकेट का भंडाफोड़ किया गया है। सिंडिकेट अब तक 40000 से ज्यादा लोगों को लगभग करोड़ों रुपए का चूना लगा चुका है।इस तरह के मामले की शिकायत मिलने के बाद साइबर क्राइम में दिल्ली एनसीआर में 12 मुजलिमों को गिरफ्तार किया है। खास बात यह है कि इनमें दो चीनी नागरिक हैं और एक तिब्बत के नागरिक है। चीनी नागरिक 27 साल का सीडी दाउयोंग और 54 साल का यू जीहाजी हैं। इन दोनों को लाजपत नगर थाना इलाके में पकड़ा गया है। इस गैंग ने 2 महीने में ही 39781 भारतीयों को ठगा है। मुजलिम उन यूआरएल लिंक का इस्तेमाल कर रहे थे जिसे भारत सरकार ने पिछले साल जून में ही ब्लॉक कर दिया है।आरोपी चीनी नागरिकों से 25 लाख रुपए की ठगी की रकम बरामद की गई है। साथ ही साथ चार करोड़ 75 लाख रुपए विभिन्न बैंक के अकाउंट से मिले है। बताया जा रहा है कि मुजलिम फेसबुक, व्हाट्सएप, यूट्यूब, इंस्टाग्राम के जरिए सोशल मीडिया पर लोगों को पैसा कमाने का लालच देते थे। उपभोक्ताओं को एक यूआरएल भेजते थे जिसे वह क्लिक करने के लिए कहते थे। यह गैंग लोगों को अपने जाल में लगातार फंसा रहा था। हालांकि पुलिस को उम्मीद है कि इन लोगों की गिरफ्तारी के बाद कई और चीजों का भंडाफोड़ हो सकता है। फिलहाल इस मामले की छानबीन की जा रही है।


Sources:Agency News