कोविशील्ड टीके पर बोले CM त्रिवेंद्र,कहा-सभी लोगों का होगा कोरोना टीकाकरण

 



 मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य के सभी लोगों का कोरोना टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि टीकाकरण अभियान की शुरूआत स्वास्थ्य कर्मियों से की गई है। इसके बाद चरणबद्ध तरीके से सभी लोगों का टीकाकरण किया जाएगा।  शनिवार को दून अस्पताल में कोरोना टीकाकरण के लिए बनाए गए बूथ पर पहुंचे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना से जीत की निर्णायक जंग शुरू हो चुकी है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान डॉक्टरोंए नर्सए टैक्नीशियन सहित सभी स्वास्थ्य कर्मियों ने सराहनीय सेवाएं दीं।मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी 13 जिलों में टीकाकरण अभियान की शुरूआत कर दी गई है। अभी राज्य को पचास हजार स्वास्थ्य कर्मियों के लायक टीके मिले हैं और आगे भी जल्द टीके उपलब्ध होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के बाद फ्रंट लाइन वर्करोंए फिर पचास साल से अधिक उम्र के लोगों और फिर बीमार लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने जनता से अपील की कि टीकाकरण को लेकर भ्रामक प्रचार और अफवाहों से बचें। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के बाद भी पूरी सतर्कता बरतनी जरूरत है। उन्होंने कहा कि टीका लगने के 28वें दिन में दुबारा टीका लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि दूसरा टीका लगने के दो सप्ताह एंटी बॉडी विकसित होने में लगते हैं। इसलिए बहुत सतर्क रहने की जरूरत है। 


कुभ के लिए 20 हजार वैक्सीन मांगी गई 

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि राज्य में स्वास्थ्य कर्मियों के टीकाकरण के लिए एक लाख 13 हजार वैक्सीन की खुराक मिली है। जो पचास हजार स्वास्थ्य कर्मियों के लिए है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा स्वास्थ्य कर्मियों के लिए अतिरिक्त वैक्सीन की जरूरत पड़ेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने हिरद्वार में महाकुंभ को देखते हुए केंद्र से बीस हजार अतिरिक्त कोरोना वैक्सीन देने का अनुरोध किया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द राज्य को यह वैक्सीन उपलब्ध हो सकती हैं। 


मृत्यु दर कम रखने के लिए दून अस्पताल की सराहना 

इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कोरोना काल में दून अस्पताल की ओर से की गई सराहनीय सेवा की प्रशांसा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमितों के मृत्यु दर को कम रखने के लिए दून अस्पताल प्रशासन ने बेहतर काम किया और अस्पताल के डॉक्टरों से लेकर अन्य सभी कर्मियों की सेवाओं को कभी भुलाया नहीं जा सकता। 


Sources:Agency News