बाबरी मस्जिद के पक्षकार रहे इकबाल अंसारी भी राम मंदिर निर्माण के लिए देंगे चंदा



अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा इकट्ठा किया जा रहा है। देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सबसे पहला चंदा देने वाले शख्स बने। राष्ट्रपति ने राम मंदिर निर्माण के लिए ₹500100 चंदा में दिए। इसके बाद से अलग-अलग राज्यों के मुख्यमंत्रियों और साथ ही साथ आम लोग भी चंदा देने के लिए सामने आए। चंदा इकट्ठा करने की खबरें लगातार आ रही हैं। इन सबके बीच बड़ी खबर यह है कि बाबरी मस्जिद की दावेदारी के पर्याय रहे इकबाल अंसारी भी राम मंदिर निर्माण में चंदा देंगे। इकबाल अंसारी के पिता हाशिम अंसारी बाबरी मस्जिद की दावेदारी में पर्याय रह चुके हैं। हालांकि 2019 में जब सुप्रीम कोर्ट ने राम मंदिर निर्माण को लेकर हरी झंडी दी उसके बाद से इकबाल अंसारी लगातार सामाजिक सद्भाव की इबादत लिख रहे हैं।इकबाल अंसारी ने कहा कि विवाद खत्म हो चुका है और अब राम मंदिर बन रहा है। ऐसे में इस मंदिर के निर्माण में सबका सहयोग होना चाहिए। चंदा देने से मुसीबत कम होती है और पुण्य मिलता है। हालांकि इकबाल अंसारी मंदिर और मस्जिद विवाद खत्म करने को लेकर आपसी सहमति बनाने के लिए लगातार जोर देते रहे हैं। यह पहला मौका नहीं है जब इकबाल अंसारी सामाजिक सौहार्द के बात कर रहे हैं। वह समय-समय पर जब भी नेताओं या किसी इंसान के द्वारा सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने वाली बात कही जाती है तो उसकी निंदा करते हैं। भले ही योगी आदित्यनाथ पर हिंदुत्व को आगे बढ़ाने का आरोप लगता रहा हो लेकिन इकबाल अंसारी उनकी भी तारीफ करते हैं और यह कहते हैं कि योगी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश सरकार जमकर काम कर रही है। साथ ही साथ उन्होंने यह भी दावा किया है कि योगी सरकार की ही वजह से अयोध्या तरक्की कर रहा है। प्रदेश में ऐसा ही सीएम होना चाहिए। 

Sources:Agency News