सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

उत्तराखंड: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज करेंगे पांचवें धाम ‘सैन्य धाम’ का शिलान्यास

 


 रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बुधवार को देहरादून में शहीद सम्मान यात्रा का समापन करेंगे। देहरादून के गुनियाल गांव में निर्माणाधीन सैन्यधाम के लिए शहीदों के घरों की मिट्टी जुटाने के लिए उक्त यात्रा बीते एक माह से प्रदेश के सभी जिलों से होकर गुजरी है। राज्य सरकार ने इसे उत्तराखंड का पांचवां धाम नाम दिया है। सैन्य धाम अगले दो साल में बनकर तैयार होगा।सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने बताया कि करीब पचास बीघा जमीन पर बनने वाले सैन्य धाम के मुख्य गेट का नाम पूर्व सीडीएस जनरल बिपिन रावत के नाम पर रखा जाएगा। इसमें प्रथम विश्वयुद्ध के बाद शहीद हुए उत्तराखंड के सभी वीर सैनिकों के नाम अंकित होंगे। जोशी ने बताया कि रक्षा मंत्री बुधवार साढ़े ग्यारह बजे यात्रा का समापन करेंगे। इस मौके पर रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी उपस्थित रहेंगे।एक महीने से जारी शहीद सम्मान यात्रा का आज देहरादून में भव्य समापन होने जा रहा है। समापन अवसर पर प्रस्तावित जनसभा में दस हजार से अधिक पूर्व सैनिकों की उपस्थिति रहेगी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और सीएम पुष्कर सिंह धामी को जनसभा को खासतौर पर संबोधित करेंगे। प्रदेश के सैनिक कल्याण गणेश जोशी ने मंगलवार को विधानसभा में आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि सैन्य धाम के लिए शहीदों के आंगन की मिट्टी जुटाने के लिए गत 15 नवंबर को चमोली के सवाड़ गांव से यात्रा का शुभारंभ किया गया था।इसका समापन बुधवार को सैन्य धाम के लिए प्रस्तावित जगह गुनियाल गॉव में होगा। उन्होंने बताया कि बीते एक माह के दौरान यात्रा सभी जिलों और 95 ब्लॉकों से होकर गुजरी, इसमें कुल 1734 शहीद परिवारों से सम्पर्क कर, उनके घरों की पवित्र मिट्टी एकत्रित की गई। इस पवित्र मिट्टी को सैन्य धाम में अमर ज्योति के निर्माण में इस्तेमाल किया जाएगा। जोशी ने बताया कि बुधवार को देहरादून जिले के 204 शहीद परिजनों को भी सम्मानित भी किया जायेगा। इस दौरान दस हजार से अधिक पूर्व सैनिक भी उपस्थित रहेंगे।कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने बताया कि करीब 50 बीघा जमीन में बनने वाले सैन्य धाम पर 63 करोड रूपये की लागत आएगी, यह दो साल में बनकर तैयार हो जाएगा। जिसमें प्रथम विश्व युद्ध से लेकर अब तक शहीद हुए उत्तराखंड के वीर जवानों के चित्र विवरण के साथ लगाए जाएंगे। सैन्य धाम में अमर जवान ज्योति के साथ ही बाबा जसवंत सिंह और हरभजन सिंह के दो मंदिर भी होंगे।

टिप्पणियाँ

Popular Post