सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

छात्रा को गोली मारने वाला तमंचा लेकर पहुंचा एस.एस.पी.ऑफिस, गिरफ्तार

 


 बरेली के फतेहगंज पूर्वी में सोमवार शाम छात्रा उजाला की गोली मारकर हत्या करने वाला आरोपी मंगलवार दोपहर एसएसपी दफ्तर में पहुंच गया। आरोपी तमंचा लेकर सीधे शिकायत प्रकोष्ठ पहुंचा। वहां पुलिसकर्मी के सामने टेबल पर तमंचा रखते हुए कहा, 'मैं ही रजनेश हूं। जानते तो होगे ही। मैंने ही कल उजाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी। मैं सरेंडर करने आया हूं।' फतेहगंज पूर्वी के डगरौली गांव की इंटर की छात्रा उजाला की सोमवार शाम गांव के ही रजनेश ने एक तरफा प्यार में गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। वह उजाला पर शादी करने का दबाव बना रहा था और जबरन ले जाना चाहता था। पुलिस टीमें आरोपी की तालाश में जुटी हुई थी।वहीं मंगलवार को अचानक आरोपी रजनेश एसएसपी कार्यालय पहुंच गया और एसएसपी के चैंबर के बराबर में ही बने शिकायत प्रकोष्ठ में जाकर अपने झोले से तमंचा निकाल कर टेबल पर रख दिया। शिकायत प्रकोष्ठ में मौजूद पुलिसकर्मियों के हाथ पांव फूल गये। आरोपी ने तमंचा रखते हुए कहा कि उसने ही उजाला की गोली मारकर हत्या की है। जिसके बाद पुलिस ने उसे चारों ओर से घेर लिया और एसएसपी की एस्कॉर्ट के साथ कोतवाली भेज दिया। जिसके बाद कोतवाली पहुंची फतेहगंज पूर्वी थाने की पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। 

टिप्पणियाँ

Popular Post