सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

उत्तर प्रदेश : सीएम योगी ने 17 पैरालंपिक विजेताओं को किया सम्मानित

 


 पैरालंपिक खेलों में भारत को 19 पदक दिलाने वाले 17 खिलाड़ियों और उत्तर प्रदेश की ओर से इन खेलों में शामिल होने वाले छह पैरा खिलाड़ियों को मुख्यमंत्री योगी आदत्यिनाथ ने गुरुवार को यहां मोदीपुरम स्थित सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि वश्विवद्यिालय में सम्मानित किया। सम्मान समारोह में शामिल होने प्रदेश के तमाम जिलों से कुल 933 पैरा खिलाड़ी बुधवार को ही मेरठ पहुंच गए थे, जिनमें 840 पुरूष और 93 महिला थीं। 

जबकि 44 खिलाड़ी ऐसे थे जिनके लिए कार्यक्रम स्थल पर विशेष रूप से व्हील चेयर की व्यवस्था की गई थी। इस मौके पर केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर भी मौजूद रहे।इस मौके पर अपने संबोधन में योगी आदत्यिनाथ ने कहा कि मेरठ को वश्वि स्तर पर खेल के समान के उत्पाद के नाम से जाना जाता है इसलिए यहां खेल वश्विवद्यिालय खोलने का नर्णिय प्रदेश सरकार ने लिया है, जिसका काम जल्द शुरु कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पैरालंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वालों को 2 करोड़, रजत को डेढ़ करोड़ और कांस्य पदक को एक करोड़ और प्रतिभागी को 25 लाख की पुरस्कार राशि आज प्रदान की गई है।

सीएम योगी ने कहा कि खेल हो या अन्य कोई काम अगर अच्छा किया जाएगा तो उनकी सरकार उसे सम्मानित करने में देर नहीं करेगी। नोएडा के जिला मज्ट्रिरेट सुहास एल वाई की कोरोना प्रबंधन की सराहना करते हुए घोषणा की कि राज्य सरकार ने सुहास को पांच वेतन वृद्धि दी है, जो एक रिकॉर्ड है। वहीं, प्रदेश के खेल मंत्री उपेंद्र तिवारी ने कहा कि गत 73 वर्षों से पैरा खिलाड़ियों की मांग लंबित थी कि उन्हें भी अन्य खिलाड़ियों की तरह मान सम्मान मिलना चाहिए, इसे पूरा किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में कुश्ती एकेडमी की स्थापना की गई। इसके अलावा तमाम 75 जिलों में खेल आधारभूत संरचना की व्यवस्था भी की गई है और अनुदान की धनराशि पांच लाख से बढा कर 25 लाख कर दी गई है।

टिप्पणियाँ

Popular Post