सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

नए वेरिएंट फैलने की आशंका : आश्रमों और गेस्ट हाउस में भी देना होगा अब कोरोना जांच का प्रमाणपत्र

  मथुरा / उत्तर प्रदेश के मथुरा जनपद में वृन्दावन शहर में दस विदेशी एवं एक देशी नागरिक के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने सभी गेस्ट हाउसों एवं आश्रमों को कहा है कि वे अपने आने वाले हर देशी-विदेशी मेहमान का पूरा ब्योरा रखें और उनके पास कोरोना जांच का नेगेटिव प्रमाण पत्र होने के बाद ही उन्हें अपने यहां ठहराएं। गौरतलब है कि लंबे समय तक कोरोना वायरस का मामला नहीं आने के बाद बरती गई लापरवाही के बाद अब फिर से कोरोना संक्रमितों के मिलने का सिलसिला चल पड़ा है। वृन्दावन में पिछले सप्ताह से अब तक दस विदेशी एवं एक उड़ीसा की भारतीय नागरिक संक्रमित पाई जा चुकी है। तीन विदेशी जिला स्तर पर कोई सूचना दिए बिना यहां से लौट भी चुके हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रचना गुप्ता ने कहा है कि गेस्ट हाउस एवं आश्रम बाहर से आने वाले व्यक्तियों के रुकने से पूर्व उनके कोविड वैक्सीनेशन प्रमाणपत्र एवं कोविड-19 जांच रिपोर्ट प्राप्त कर ही उन्हें ठहराएं तथा ऐसा नहीं होने पर वे तत्काल स्वास्थ्य विभाग के नियंत्रण कक्ष को रिपोर्ट करें। उनके अनुसार नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। न

सोनीपत: महिला पहलवान और उसके भाई की गोली मारकर हत्या, इलाके में भड़की हिंसा

 


 सोनीपत/हरियाणा के सोनीपत जिले में एक कुश्ती अकादमी में कुछ हमलावरों ने गोलीबारी कर विश्वविद्यालय स्तर की पहलवान निशा दहिया और उनके भाई की हत्या कर दी, जबकि मां घायल हो गई। घटना के बाद गुस्साए गांववालों ने अकादमी में आग लगा दी। जिस महिला पहलवान की हत्या की गयी, उनकी पहचान को लेकर भ्रम पैदा हो गया और कई खबरों में उन्हें हाल ही में अंडर-23 वर्ग की विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली पहलवान बता दिया गया। 

कांस्य पदक विजेता पहलवान का नाम भी निशा दहिया ही है।पुलिस को संदेह है कि सोनीपत के हलालपुर इलाके में हुई इस गोलीबारी की घटना के पीछे अकादमी का कोच-सह-मालिक है। पुलिस उसे पकड़ने व घटना के कारणों का पता लगाने का प्रयास कर रही है। सोनीपत के सहायक पुलिस अधीक्षक मयंक गुप्ता ने बताया कि निशा दहिया (20) और उनके भाई सूरज (18) इस वारदात में मारे गए। उन्होंने उन खबरों को खारिज कर दिया जिसमें मृतक महिला को कांस्क पदक विजेता पहलवान बताया गया है। गुप्ता ने बताया कि वह विश्वविद्यालय स्तर की पहलवान थीं जो सुशील कुमार कुश्ती अकादमी में अभ्यास कर रही थीं।हालांकि कई खबरों में दहिया को विश्व पदक विजेता बताया गया जिन्हें कुछ दिनों पहले बेलग्रेड में उनके प्रदर्शन के लिए बुधवार सुबह ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बधाई दी थी।

 भारतीय कुश्ती महासंघ ने एक वीडियो साझा कर स्थिति स्पष्ट की। इसमें जिसमें तेजी से उभरती पहलवान निशा दहिया को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि वह राष्ट्रीय चैम्पियनशिप के लिए अभी गोंडा में हैं और ठीक हैं। उनके साथ 2016 ओलंपिक की कांस्य पद विजेता साक्षी मलिक बैठीं दिखाई दे रही हैं। भारतीय महिला टीम के साथ बेलग्रेड गए कोच रणधीर मलिक ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘‘जिस लड़की की मौत हुई है वह सोनीपत के हलालपुर गांव की नयी पहलवान थीं। उसका नाम भी निशा दहिया है लेकिन वह अंडर-23 विश्व चैम्पियनशिप में भाग लेने वाली निशा नहीं है।

चैम्पियनशिप में जाने वाली निशा सुरक्षित हैं। यह फर्जी खबर हैं कि उनकी मौत हो गयी है।’’पुलिस ने बताया कि यह घटना दोपहर करीब दो बजे की है और कथित तौर पर कोच पवन तथा कुछ अन्य लोगों ने पांच से छह गोलियां चलाई। निशा दहिया का शव अकादमी के प्रवेश द्वार के पास मिला और उनके भाई का शव करीब 100-200 मीटर दूर मिला। उनकी मां हमले में घायल हो गयी और उन्हें रोहतक के पीजीआईएमएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि मृतक भाई-बहन खरखौदा उपमंडल में हलालपुर गांव के धनपति और दयानंद दहिया के बच्चे थे। घटना से गुस्साएं हलालपुर गांव के लोगों ने अकादमी में आग लगा दी। वहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव