सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

दिल्ली:अब होटल,रेस्टोरेंट और बार में नहीं नहीं छलकेंगे जाम,आबकारी विभाग का नया फरमान

 


 दिल्ली के आबकारी विभाग ने स्पष्ट किया है कि अभी राजधानी के होटल, क्लब और रेस्टोरेंट्स के बार में शराब नहीं परोसी जाएगी। कोविड-19 के मामलों में कमी होने के बाद राजधानी में शराब की दुकानें और रेस्टोरेंट्स को दोबारा खोल दिया गया है। देश में संक्रमण की दूसरी लहर के दौरान अप्रैल में इन्हें बंद कर दिया गया था।दिल्ली के आबकारी विभाग ने सोमवार को एक बयान में स्पष्ट किया कि अगले आदेश तक होटल, क्लब और रेस्टोरेंट्स में बार बंद रहेंगे। आदेश में कहा गया कि बाजारों, मॉल और बाजार परिसरों (कंटेनमेंट जोन के बाहर) में सभी शराब की दुकानों को सुबह 10 से रात आठ बजे के बीच खोलने की अनुमति है। शहर में शराब की दुकानें छह जून को दोबारा खुलीं थी।अधिकारी ने बताया कि दिल्ली सरकार के सोमवार से रेस्टोरेंट खोलने की अनुमति देने के बाद होटल, क्लब और रेस्टोरेट्स में बार खोलने के संबंध में कई सवाल पूछे जा रहे थे, जिसके बाद यह स्पष्टीकरण दिया गया।दिल्ली में करीब दो महीने से बंद रेस्टोरेंट्स को 50 फीसदी की क्षमता के साथ उसमें 21 जून तक ट्रायल के तौर पर बैठकर खाने (डाईन-इन) सुविधा देने की इजाजत दे दी।दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) के सभी बाजारों, बाजार परिसरों, मॉल और रेस्टोरेंट (50 प्रतिशत बैठने की क्षमता तक) को ट्रायल के आधार पर 14 जून की सुबह पांच बजे से 21 जून की सुबह पांच बजे तक एक सप्ताह के लिए काम करने की अनुमति दी है।डीडीएमए ने साथ ही सचेत किया था कि यदि यह पाया जाता है कि बाजारों, बाजार परिसरों, मॉल और रेस्टोरेंट में कोविड-19 संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए उपयुक्त व्यवहार का पालन नहीं किया जा रहा है, या यदि दिल्ली में लोगों के संक्रमित पाए जाने की दर और संक्रमितों की संख्या बढ़ती है, तो इन केंद्रों को बिना कोई देर किए तुरंत बंद कर दिया जाएगा ताकि दिल्ली में संक्रमण की अगली लहर की हर आशंका को रोका जा सके। 

टिप्पणियाँ

Popular Post