सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून: मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल के लिए आकर्षक लुक में उतरीं मॉडल

  सिनमिट कम्युनिकेशंस की ओर से एस्ले-हॉल स्थित कमल ज्वेलर्स में मिस उत्तराखंड-2021 के फर्स्ट सब-टाइटल का आयोजन किया गया। इस मौके पर 27 मॉडल्स फ्रेश फेस की रेस में शामिल रहीं। हालांकि इसका अनाउंसमेंट ग्रैंड फिनाले वाले दिन ही किया जाएगा।मंगलवार को आयोजित मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल को लेकर जजेज ने मॉडल्स को मार्क्स दिए। वहीं मॉडल्स भी फेस को बेहद आकर्षक बनाकर सामने आई। इस मौके पर देहरादून, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, धारचूला आदि जगहों की प्रतिभागियों ने इसमें हिस्सा लिया। जजेस में मिस ब्यूटीफुल आइज-2019 प्रीति रावत, डायरेक्टर कमल ज्वेलर्स और मिस फैशन दिवा-2019 बबीता बिष्ट शामिल रहीं। इस मौके पर आयोजक दिलीप सिंधी ने बताया कि इन मॉडल्स के कॉन्फिडेन्स को बढ़ाने के लिए अब ग्रूमिंग क्लासेज शुरू हो गयी है। जिसमें ड्रेस, मेकअप से लेकर उनकी कम्युनिकेशन स्किल्स राउंड को निखारा जा रहा है।बताया कि आयोजन का ग्रैंड फिनाले दिसंबर में होगा। आयोजक राजीव मित्तल ने बताया कि पिछले साल कोरोना की वजह से आयोजन पर ब्रेक लग गया था। बताया कि अलग-अलग राउंड के बाद इसका ग्रैंड फिनाले होगा। इस मौके पर

जम्मू कश्मीर: वैष्णो देवी मंदिर के पास लगी आग

बड़ी खबर जम्मू कश्मीर के कटरा जहां मां भगवती माता वैष्णो देवी के दरबार के पास में आग लग गई है। बताया जा रहा है कि कालिका भवन के पास काउंटर नंबर 2 के नजदीक यह आग लगी है। आग पर काबू पाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है जिस स्थान पर आग लगी है वहां से माता का भवन तकरीबन 100 मीटर की दूरी पर है। AIR News Jammu @radionews_jammu Fire broke out in a Building situated near Shri Mata Vaishno Devi shrine #Katra, details awaited. @airnewsalerts
आग के कारण का अब तक पता नहीं चल पाया है। लेकिन प्रथम दृष्टया इसे शॉर्ट सर्किट का ही मामला बताया जा रहा है। आग की घटना के साथ ही श्राइन बोर्ड के अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई। आग की लपटें इतनी भयानक थी कि भैरव घाटी से भी यह दिखाई दे रहा था। आपको बता दें कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर के चलते जम्मू कश्मीर के कई इलाकों में कोरोना कर्फ्यू लगाया गया था। लेकिन मई के अंत में कोरोना कर्फ्यू के हटने के साथ ही माता वैष्णो के दरबार में भक्तों का हुजूम एक बार फिर से जुटना शुरू हो गया है। मई के आखिर में जहां हर रोज एक से डेढ़ हजार भक्त माता के दरबार में जा रहे थे वही आंकड़ा बढ़कर अब 3 से 4 हजार के बीच हो गया है। कारोबारियों के चेहरे पर रौनक लौटने लगी है।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश