सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

‘आप’ को मिला उत्तराखंड में कर्नल कोठियाल का साथ 18 को हो सकते हैं शामिल

 



आम आदमी पार्टी को उत्तराखंड में भी एके का साथ मिल गया है। कई दिनों के कयासबाजी के बाद 18 अप्रैल को कर्नल (सेवानिवृत्त) अजय कोठियाल आप में शामिल होने जा रहे हैं। कर्नल अजय कोठियाल की लंबे समय से आम आदमी पार्टी से बातचीत चल रही थी। आप के उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक कोठियाल की आप के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात हो चुकी है। पहले उनकी 21 अप्रैल को देहरादून में अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में पार्टी सदस्यता लेने की तैयारी थी। लेकिन बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते अरविंद केजरीवाल का देहरादून दौरा संभव नहीं हो पा रहा है।

इस कारण अब आगामी 18 अप्रैल को ही देहरादून में आयोजित होने जा रहे संक्षिप्त समारोह में कोठियाल को सदस्यता दिलाई जाएगी। केजरीवाल वर्चुअल माध्यम से कार्यक्रम से जुड़ सकते हैं। सूत्रों के अनुसार पार्टी उन्हें उत्तराखंड के एके के तौर पर पेश करेगी, आप राष्ट्रीय स्तर पर अरविंद केजरीवाल के नाम को भी इसी तरह कैश करती है। पार्टी उत्तराखंड में भी एके अभियान चला ही रही है। हालांकि अभी उन्हें सीएम फैश के तौर पर पेश नहीं किया जाएगा, लेकिन आने वाले दिनों में इस पर जरूर विचार किया जा सकता है। कर्नल अजय कोठियाल, यूथ फाउंडेशन और केदारनाथ पुननिर्माण परियोजना के जरिए अपनी पहचान रखते हैं। उनके लंबे समय से सियासी मैदान में उतरने की संभावनाएं जताई जा रही थी।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव