एसआईटी ने मांगी अनुमति,छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण अफसर की गिरफ्तारी की तैयारी

  


 छात्रवृत्ति घोटाले में समाज कल्याण के एक और अफसर को गिरफ्तार करने की तैयारी है। एसआईटी जांच में नाम खुलने और तथ्य सामने आने पर एसआईटी ने इस अधिकारी की गिरफ्तारी की अनुमति शासन से मांगी है। अनुमति मिलते ही अफसर पर शिकंजा कसा जायेगा। छात्रवृत्ति घोटाले में सितंबर 2019 में एसआईटी ने जांच शुरू करने के बाद से अब तक 60 मुकदमे दर्ज किए हैं। इन मुकदमों में कई दलालों के अलावा यूपी, हरियाणा, राजस्थान समेत कई राज्यों के शैक्षिक संस्थान शामिल हैं।

कुछ समय पूर्व एसआईटी ने यूएसनगर में तत्कालीन समाज कल्याण अधिकारी रहे अनुराग शंखधर और पटल सहायक राजेंद्र कुमार को गिरफ्तार कर लिया था। अब यूएसनगर जिले में ही कुछ साल पहले तैनात रहे एक और अधिकारी का नाम भी सामने आया है। एसआईटी से मिली जानकारी के अनुसार, तथ्यों की पुष्टि के बाद तत्कालीन सहायक समाज कल्याण अधिकारी हरीश नाथ पर केस दर्ज किया गया।

अब उनकी गिरफ्तारी की तैयारी है, बस शासन की अनुमति का इंतजार है। बताया जा रहा है कि, यह अधिकारी वर्तमान में नैनीताल जिले में तैनात हैं। एसआईटी ने छात्रवृत्ति घोटाले की तफ्तीश में बाहरी राज्यों के बाद प्रदेश के 203 कॉलेजों को चिह्नित किया था। 

एसआईटी जांच में यूएसनगर में समाज कल्याण विभाग के तत्कालीन अधिकारी का नाम सामने आया है। ऐसे में शासन से गिरफ्तारी की अनुमति मांगी गई है। अनुमति मिलते ही गिरफ्तारी होगी।


प्रमोद कुमार, एएसपी काशीपुर (यूएसनगर)