सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

बगदाद : अल-रशद के शिया बहुल गांव में IS का हमला, 11 लोगों की मौत, 6 घायल

  बगदाद /   इस्लामिक स्टेट के कुछ बंदूकधारियों ने बगदाद के पूर्वोत्तर के एक गांव में हमला कर दिया, जिसमें कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई और छह अन्य घायल हुए हैं। इराक के सुरक्षा अधिकारियों ने यह जानकारी दी।  अधिकारियों ने बताया कि हमला दियाला प्रांत के बाकूबा के पूर्वोत्तर में अल-रशद के शिया बहुल गांव में हुआ। हमला क्यों किया गया यह अभी स्पष्ट नहीं है, लेकिन दो अधिकारियों ने बताया कि इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने पहले दो ग्रामीणों का अपहरण किया था और जब उन्हें फिरौती के पैसे नहीं दिए गए तो उन्होंने गांव पर हमला कर दिया। नाम उजागर ना करने की शर्त पर अधिकारियों ने बताया कि हमले में मशीन गन का इस्तेमाल किया गया।  हमले का शिकार बने सभी लोग आम नागरिक थे। वर्ष 2017 में देश से इस्लामिक स्टेट को खदेड़ दिए जाने के बाद से इराक में आम नागरिकों को निशाना बनाकर किए जाने वाले हमले बेहद कम हो गए हैं, हालांकि कई इलाकों में अब भी ऐसी घटनाएं देखी जा रही हैं। सुन्नी मुस्लिम चरमपंथी संगठन के आतंकवादी अब भी सक्रिय हैं, जो अक्सर सुरक्षा बलों, बिजली स्टेशनों और अन्य बुनियादी ढांचों को निशाना बनाते ह

कोरोना का असर : पहाड़ों की रानी मसूरी के करीब 80 फीसदी होटल खाली, सड़कें वीरान

 

 लगातार बढ़ते कोरोना संक्रमण का असर पहाड़ों की रानी मसूरी के पर्यटन पर भी दिख रहा है। शहर वीरान नजर आ रहा है। सड़कें सूनी पड़ीं हैं, ज्यादातर होटल भी खाली हैं। इससे पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है। वीकेंड पर मसूरी में हजारों की संख्या में सैलानी पहुंचते थे। शहर की धड़कन मालरोड पर्यटकों से खचाखच भरी रहती थी। वही रोड अब वीरान दिखाई दे रही। कोरोना के चलते मसूरी में पर्यटकों की आवाजाही में करीब करीब 70 फीसदी की कमी आई है। मसूरी होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएन माथुर का कहना है कि मसूरी में हालात कुछ-कुछ लॉकडाउन जैसे हो गए हैं।आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य किए जाने से सैलानी मसूरी नहीं आ रहे हैं। सैलानी एंटीजन रेपिड टेस्ट कर रहे हैं, लेकिन सरकार उसे नहीं मान रही है। इसका खामियाजा अब पर्यटन व्यवसाय से जुड़े लोगों को उठाना पड़ रहा। सरकार को मसूरी आने वाले पर्यटकों के टेस्ट की व्यवस्था कोल्हूखेत के पास करनी चाहिए। हिमाचल में पर्यटकों के आने पर किसी तरह की रोकटोक नहीं है, जिससे वहां सैलानी पहुंच रहे हैं।आरएन माथुर ने कहा कि सैलानियों की कोरोना टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य रूप से मांगने की व्यवस्था खत्म होनी चाहिए।वहीं, सवाय होटल के सीईओ विनीत अग्रवाल ने कहा कि पिछले वीकेंड की तुलना में यह वीकेंड पूरा खाली गया है। कोरोना के चलते अधिकांश बुकिंग कैंसिल हो गई हैं।जेपी फाइव स्टार होटल के वाइस प्रेसीडेंट अनिल कुमार शर्मा ने कहा कि होटल में शादी की बुकिंग कैंसिल हो गई हैं।एडवांस बुकिंग भी अब नहीं हो रही है। पूरा होटल खाली है। शहर के करीब 80 फीसदी होटल खाली हैं।




टिप्पणियाँ

Popular Post