सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

सरकार से बातचीत के लिए संयुक्त किसान मोर्चा ने बनाई 5 लोगों की कमेटी, टिकैत बोले- हम कहीं नहीं जा रहे

  कृषि कानूनों के निरस्त होने के बाद आज संयुक्त किसान मोर्चा के अहम बैठक हुई। इस बैठक में आंदोलन संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। इसके साथ ही 5 लोगों की कमेटी बनाई गई है जो सरकार से एमएसपी और किसानों से केस वापसी जैसे मुद्दों पर बातचीत करेगी। अब संयुक्त किसान मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। बैठक के बाद राकेश टिकैत ने बताया कि 5 लोगों की कमेटी बनाई है। यह कमेटी सरकार से सभी मामलों पर बातचीत करेगी। अगली मीटिंग संयुक्त किसान मोर्चा की यहीं पर 7 तारीख को 11-12 बजे होगी। इस 5 लोगों की कमेटी में युद्धवीर सिंह, शिवकुमार कक्का, बलबीर राजेवाल, अशोक धवाले और गुरनाम सिंह चढुनी के नाम पर सहमति बनी है। बताया जा रहा है कि यह संयुक्त किसान मोर्चा की यह हेड कमेटी होगी जो किसानों से जुड़े मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसले लेगी। हालांकि बताया यह भी जा रहा है कि अब तक सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर बातचीत के लिए किसानों को नहीं बुलाया गया है। लेकिन जब भी सरकार की ओर से किसानों को बातचीत के लिए बुलाया जाएगा, यह 5 लोग ही जाएंगे। राकेश टिकैत की ओर से फिर दोहराया गया कि आंदोलन फिलहाल खत्म नहीं होगा। उन

हार की बौखलाहट में दीदी और टी.एम.सी के लोग अब हर सीमा तोड़ रहे हैं- मोदी

  


 कोलकाता /  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल चुनाव के मद्देनजर कल्याणी में एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने प्रदेश की ममता बनर्जी सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि बीते दिनों मैं बंगाल के कोने-कोने में गया। ऐसे में हर जगह बंगाल को लेकर जो उत्साह, जुनून और संकल्प है वो बाकई अभूतपूर्व है। इस बार के विधानसभा चुनाव में बंगाल एक नया इतिहास रचने जा रहा है। उन्होंने कहा कि चार चरणों में जो बहुत भारी संख्या में मतदान हुआ है, वो आशोल पॉरिबोरतोन के लिए है। आशोल पॉरिबोरतोन यानि बंगाल का विकास, बंगाल के लोगों का विकास। आशोल पॉरिबोरतोन यानि दीदी के कुशासन से मुक्ति, दीदी के सिंडिकेट, दीदी के तोलाबाजों से मुक्ति। बंगाल के लोगों ने यह तय कर दिया है भाजपा की बहुत बड़ी जीत होने जा रही है। कल्याणी और आस-पास के क्षेत्र में आस्था से लेकर अध्यात्म तक, संस्कृति से लेकर संस्कार तक सभी को प्रेरणा दी है।उन्होंने कहा कि यह यहां की गौरवशाली विरासत है। लेकिन दीदी ने 10 साल तक हर विरासत का अपमान किया है। पीएम मोदी ने कहा कि अपने राजनीतिक हितों के लिए बंगाल के लोगों की हत्या, अपने तोलाबाजों को फायदा पहुंचाने के लिए बंगाल के लोगों से लूट-पाट, अपने सिंडिकेट को ताकतवर बनाने के लिए बंगाल के लोगों से विश्वासघात, दीदी के 10 साल के काम का रिपोर्ट-कार्ड यही है। पीएम ने कहा कि दीदी को लगता है हर खेल वही शुरू करती हैं और वही खत्म करती हैं। इसलिए वो कहती हैं खेला होबे लेकिन दीदी, ओ दीदी, आदरणीय दीदी यह मत भूलिए यह लोकतंत्र है। जनता-जनार्दन भगवान का ही रूप होता है। यहां खेल भी जनता भी खेल ही शुरू करती है और खेला शेष भी जनता जनार्दन करती है। उन्होंने कहा कि आज के बंगाल की सच्चाई यही है कि खेला तो खत्म हो गया दीदी। आधे चुनावों ने ही तृणमूल का पूरा साफ होना तय कर दिया है।

हार की बौखलाहट में है दीदी !

पीएम मोदी ने कहा कि हार की बौखलाहट में दीदी और उनकी पार्टी के लोग अब हर सीमा तोड़ रहे हैं। दीदी के लोग खुलेआम एससी, एसटी, ओबीसी वर्ग के लोगों को गाली देने लगे हैं, सिर्फ इसलिए कि वो बीजेपी को सपोर्ट करते हैं। उन्होंने कहा कि दीदी, आपके साथी बंगाल के अनुसूचित जाति को भिखारी कहकर अपमान कर सकते हैं, लेकिन हमारे लिए, भाजपा के लिए अनुसूचित जाति का मान सम्मान सर्वोपरि है। पीएम मोदी ने कहा कि अपनी हार सामने देख दीदी ने अब नई रणनीति बनाई है। दीदी की साजिश है कि एससी, एसटी और ओबीसी किसी को भी वोट डालने नहीं दिया जाए। दीदी की साजिश है, इन वर्ग के लोगों को वोट डालने से रोकना और अपने गुंडों से छप्पा भोट डलवाना।

यहां सुने पूरा संबोधन 



Sources:PrabhaShakshi

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव