सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

बगदाद : अल-रशद के शिया बहुल गांव में IS का हमला, 11 लोगों की मौत, 6 घायल

  बगदाद /   इस्लामिक स्टेट के कुछ बंदूकधारियों ने बगदाद के पूर्वोत्तर के एक गांव में हमला कर दिया, जिसमें कम से कम 11 लोगों की मौत हो गई और छह अन्य घायल हुए हैं। इराक के सुरक्षा अधिकारियों ने यह जानकारी दी।  अधिकारियों ने बताया कि हमला दियाला प्रांत के बाकूबा के पूर्वोत्तर में अल-रशद के शिया बहुल गांव में हुआ। हमला क्यों किया गया यह अभी स्पष्ट नहीं है, लेकिन दो अधिकारियों ने बताया कि इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने पहले दो ग्रामीणों का अपहरण किया था और जब उन्हें फिरौती के पैसे नहीं दिए गए तो उन्होंने गांव पर हमला कर दिया। नाम उजागर ना करने की शर्त पर अधिकारियों ने बताया कि हमले में मशीन गन का इस्तेमाल किया गया।  हमले का शिकार बने सभी लोग आम नागरिक थे। वर्ष 2017 में देश से इस्लामिक स्टेट को खदेड़ दिए जाने के बाद से इराक में आम नागरिकों को निशाना बनाकर किए जाने वाले हमले बेहद कम हो गए हैं, हालांकि कई इलाकों में अब भी ऐसी घटनाएं देखी जा रही हैं। सुन्नी मुस्लिम चरमपंथी संगठन के आतंकवादी अब भी सक्रिय हैं, जो अक्सर सुरक्षा बलों, बिजली स्टेशनों और अन्य बुनियादी ढांचों को निशाना बनाते ह

जो तृणमूल छोड़कर गए हैं, चुनाव बाद उनकी दुकानें बंद हो जाएंगी: ममता बनर्जी

तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक बार फिर से पार्टी छोड़ रहे नेताओं को लेकर बड़ा बयान दिया है। ममता बनर्जी ने कहा है कि तृणमूल कांग्रेस में भ्रष्ट लोगों की कोई जगह नहीं है, जो पार्टी छोड़कर जाना चाहते हैं वह तत्काल जा सकते हैं। ममता बनर्जी ने दावा किया कि भाजपा कुछ भ्रष्ट नेताओं को ही खरीद सकती है लेकिन तृणमूल कांग्रेस के समर्पित कार्यकर्ताओं को नहीं खरीद सकती। हाल में ही टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले पूर्व मंत्री राजीब बनर्जी पर हमला करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि वन विभाग में वन सहायक की भर्ती में विसंगतियों की अब वह जांच कराएंगी। ममता बनर्जी ने तंज कसते हुए कहा कि जो तृणमूल छोड़कर गए हैं, वह चुनाव नहीं जीतेंगे और विधानसभा चुनाव के बाद उनकी दुकानें बंद हो जाएंगी। आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल में इसी साल विधानसभा के चुनाव होने है। भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के बीच जबरदस्त टक्कर मानी जा रही है। Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post