योगी जी के ‘गोरखपुर’ में स्‍वाथ्‍य विभाग का ‘‘गोरखधंधा’’,विभाग की सहमति पर 28 लाख की नकली दवाएं खपा दी व्यापारियों ने

गोरखपुर/ कहने को कड़क दिखने मे दबंग फरमान सुनाने मे माहिर योगी जी के गृह नगर गोरखपुर में नकली दवा कारोबारियों के डंक से ड्रग विभाग को सांप सूंघ गया है। आपको बता दें 11 जनवरी को विभाग ने आठ लाख रुपये की दवाएं पकड़ी लेकिन उसके बाद हाथ पर हाथ रख कर बैठ गया। न तो कोई अभियान चला और न ही सैंपल लिए गए। इन 22 दिनों में कारोबारियों को इतनी ढील मिल गई कि वे 28 लाख रुपये की नकली दवाएं दूर-दराज के मेडिकल स्टोरों पर खपा दिया। विभाग अब प्रयास भी करे तो उसके हाथ से तीर निकल चुका है अब कुछ नहीं होने वाला है। उजागर हुआ था जनवरी में नकली दवाओं के आने का मामला गौरतलब है कि जनवरी के पहले सप्ताह में 36 लाख रुपये की नकली दवाएं आने का मामला उजागर हुआ था। अलीनगर के एक थोक व्यापारी ने हड्डी माई थान के एक व्यापारी को ये नकली दवाएं दी थीं। उसके यहां से भालोटिया मार्केट के दो व्यापारियों ने पूरी दवा उठा ली थी। उसमें से 18 लाख रुपये की दवाएं लखनऊ के एक व्यापारी को भेजी गई। दो दिन बाद उस व्यापारी ने उन्हें नकली करार देते हुए पूरी दवा वापस कर दी। इसके बाद जनवरी के पहले सप्ताह में इस मामले का खुलासा हुआ। जब तक विभाग जांच करने पहुंचे तब तक दवाएं गायब कर दी गईं। साभार/इन्डियन आईडल