सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून: मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल के लिए आकर्षक लुक में उतरीं मॉडल

  सिनमिट कम्युनिकेशंस की ओर से एस्ले-हॉल स्थित कमल ज्वेलर्स में मिस उत्तराखंड-2021 के फर्स्ट सब-टाइटल का आयोजन किया गया। इस मौके पर 27 मॉडल्स फ्रेश फेस की रेस में शामिल रहीं। हालांकि इसका अनाउंसमेंट ग्रैंड फिनाले वाले दिन ही किया जाएगा।मंगलवार को आयोजित मिस फ्रेश फेस सब-टाइटल को लेकर जजेज ने मॉडल्स को मार्क्स दिए। वहीं मॉडल्स भी फेस को बेहद आकर्षक बनाकर सामने आई। इस मौके पर देहरादून, उत्तरकाशी, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टिहरी, पौड़ी, धारचूला आदि जगहों की प्रतिभागियों ने इसमें हिस्सा लिया। जजेस में मिस ब्यूटीफुल आइज-2019 प्रीति रावत, डायरेक्टर कमल ज्वेलर्स और मिस फैशन दिवा-2019 बबीता बिष्ट शामिल रहीं। इस मौके पर आयोजक दिलीप सिंधी ने बताया कि इन मॉडल्स के कॉन्फिडेन्स को बढ़ाने के लिए अब ग्रूमिंग क्लासेज शुरू हो गयी है। जिसमें ड्रेस, मेकअप से लेकर उनकी कम्युनिकेशन स्किल्स राउंड को निखारा जा रहा है।बताया कि आयोजन का ग्रैंड फिनाले दिसंबर में होगा। आयोजक राजीव मित्तल ने बताया कि पिछले साल कोरोना की वजह से आयोजन पर ब्रेक लग गया था। बताया कि अलग-अलग राउंड के बाद इसका ग्रैंड फिनाले होगा। इस मौके पर

कैसे एक रात में हो गयी पूरी दुनिया में मशहूर मिया खलीफा

मिया खलीफा एक लेबनानी-अमेरिकी मीडिया हस्ती, वेब कैमरा मॉडल और पूर्व पॉर्न एक्ट्रेस है। उन्होंने अक्टूबर 2014 में पोर्नोग्राफी में काम करना शुरू किया था वह दो महीनों में पाॉर्न साइट पोर्नहब पर सबसे ज्यादा देखी जाने वाली एक्ट्रेस बन गई। मिया खलीफा अपनी एक वीडियो के बाद पूरी दुनिया में मशहूर हो गयी थी। इस पॉर्न वीडियो में उन्होंने हिजाब पहनकर यौन कार्य किया था जिसे लेकर काफी विवाद हुआ था। कुछ इस्लामिक देशों द्वारा मिया खलीफा को धमकियां दी गयी थी।
खलीफा 2001 में अपने परिवार के साथ दक्षिण लेबनान संघर्ष के मद्देनजर अपना घर छोड़ कर संयुक्त राज्य अमेरिका चली गई थी। उनका परिवार काफी ज्यादा कैथोलिक था यानी की पुरानी नियमों को कट्टर तरीके से मानने वाला।
उन्होंने बेरूत में एक फ्रांसीसी भाषा के निजी स्कूल में पढ़ाई की जहाँ उन्होंने अंग्रेजी बोलना भी सीखा। संयुक्त राज्य में जाने के बाद, वह मोंटगोमरी काउंटी, मैरीलैंड में रहीं और हाई स्कूल की पढ़ाई की।
उन्होंने एक इंटरव्यू में अपनी निजी जीवन के बारे में बात करते हुए बताया था कि स्कूल में उनके लुक को लेकर काफी ज्यादा उन्हें तंग किया जाता था। रंग को लेकर उन्हों शुरूआत में काफी कुछ झेलना पड़ा। 9/11 के आतंकी हमलों के बाद ये चीजें बहुत ज्यादा बढ़ गयी थी।
उन्होंने वुडस्टॉक, वर्जीनिया में मैसनुटटेन मिलिटरी अकादमी में एडमिशन लिया और बाद में इतिहास में बीए किया। स्थानीय डील या नो डील-एस्क स्पैनिश गेम शो में एक बारटेंडर, मॉडल और "ब्रीफ़केस गर्ल" के रूप में काम करते हुए उन्होंने खुद को पॉपुलर किया।
अंतरराष्ट्रीय पॉप स्टार रिहाना ने मंगलवार को किसान आंदोलन को समर्थन देते हुए ट्वीट किया। इसके साथ ही उन्होंने प्रदर्शन स्थल पर इंटरनेट बंद करने की आलोचना की। रिहाना विश्व स्तर की पहली स्टार हैं जिन्होंने किसान आंदोलन को समर्थन दिया है। अब किसान आंदोलन को अपना समर्थन पूर्व पॉर्न स्टार मिया खलीफा ने भी दिया है। मिया खलीफा ने समर्थन दिखाते हुए किसानों के जारी विरोध पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए एक ट्वीट किया।
मिया के. (एड्री स्टेन अकाउंट) (Mia K. (Adri Stan Account) नाम के इस ट्विटर अकाउंट को मिया खलीफा का अधिकारिक अकाउंट माना जाता है। मिया खलीफा शादी के बाद से इस अकाउंट पर ही एक्टिव नजर आयी है। पूर्व पॉर्न स्टार मिया खलीफा ने अंग्रेजी में एक किसानों की तस्वीर पोस्ट करते हुए कैप्शन में लिखा- What in the human rights violations is going on?! They cut the internet around New Delhi?! #FarmersProtest.
यानी कि उन्होंने लिखा कि दिल्ली में मानव अधिकारों का उल्लंघन क्यों हो रहा है। नई दिल्ली के आसपास इंटरनेट क्यों काट दी गयी है। किसानों के मानव अधिकार कहा है? मिया खलीफा के इस ट्वीट के बाद से ही वह सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही है। उनका ये ट्वीट काफी ट्रोल किया जा रहा है और इसपर काफी मीम भी बन रहे हैं। लगातार ट्रोल होने के कुछ घंटों बाद मिया खलीफा ने किसानों के समर्थन में एक और ट्वीट करते हुए ट्रोलर्स को जवाब दिया है। मिया खलीफा ने अपने उपर लगे उन आरोपों को खारिज किया जिसमें उनपर आरोप लगाए गये कि उन्होंने किसानों का समर्थन पैसे लेकर किया है। उन्होंने एक व्यंगात्म ट्वीट करते हुए लिखा कि ये कोई फिल्म नहीं है जिसमें पैसे लेकर समर्थन किया जाए। हम किसानों के साथ खड़े हैं।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश