एम्स में आसान होगी रीढ़ की हड्डी की सर्जरी

 


 




देहरादून/अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में हाईब्रिड ऑपरेशन थियेटर विधिवत शुरू हो गया है। न्यूरो सर्जरी विभाग के इस ओटी में जल्द ही तंत्रिका तंत्र से जुड़े रोगों से ग्रसित मरीजों की शल्य क्रिया शुरू की जाएगी।हाईब्रिड ऑपरेशन थियेटर का संस्थान के निदेशक प्रोफेसर रविकांत ने औपचारिक शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि हाईब्रिड ऑपरेशन थियेटर सीटी मशीन एवं अत्याधुनिक न्यूरो नेविगेशन की सुविधाओं से सुसज्जित होगा। इस तरह की प्रणाली स्थापित होने से अब एम्स अस्पताल में एपीलैप्सी सर्जरी ;मिर्गी के दौरे की सर्जरी, दिमाग और रीढ़ की हड्डी के कैंसर, पिचूट्री ग्लैंड,पियूष ग्रंथी की सर्जरी के अलावा रीढ़ की हड्डी की जटिल बीमारियों की सर्जरी आसानी से की जा सकेगी।न्यूरो सर्जरी विभागाध्यक्ष डॉ0 रजनीश अरोड़ा ने बताया कि यह मशीन देशभर के चुनिंदा अस्पतालों में ही मौजूद है। प्रो0 आरएस मित्तल ने बताया कि इस तरह के अत्याधुनिक ऑपरेशन थियेटर में स्नायु तंत्र की जटिलतम बीमारियों दिगाम एवं रीढ़ की हड्डी के कैंसर की सर्जरी संभव है। कार्यक्रम में अंशुमन गुप्ता, प्रो0 मनोज गुप्ता, प्रोफेसर बीना रवि, प्रो0 लतिका मोहन, प्रो0 आरएस मित्तल, ब्रिगेडियर यूबी मिश्रा, प्रभात कुमार मिश्रा, डा0 अनुभा अग्रवाल, डा0 प्रांशु भार्गव, डा0 निशांत गोयल, डा0 जितेंद्र चतुर्वेदी, डा0 राजा शेखर, डा0 सर्वानन आदि मौजूूद थे।