सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

ओमिक्रोन की दहशत से मसूरी और देहरादून सहित कई पर्यटक स्थलों में बुकिंग हो रही रद



 देहरादून /  देश में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रोन के बढ़ते मामलों से एक बार फिर दहशत का माहौल बनने लगा है। इस दहशत का असर पर्यटन व्यवसाय पर पड़ रहा है। मसूरी और देहरादून के होटलों में नव वर्ष के लिए कराई गई एडवांस बुकिंग अब रद हो रही है। दो दिन में 20 प्रतिशत बुकिंग रद हो चुकी हैं। इससे कारोबारियों को नव वर्ष की शुरुआत फीकी रहने की चिंता सता रही है।नव वर्ष के जश्न के लिए एक सप्ताह पहले ही मसूरी के होटल लगभग पैक हो चुके थे। देहरादून, धनोल्टी और चकराता में भी 70 फीसद से अधिक बुकिंग हो चुकी थी, लेकिन देश में कोरोना के मामले बढ़ने के साथ ही पर्यटकों ने एडवांस बुकिंग रद करानी शुरू कर दी है। होटल एसोसिएशन मसूरी के अध्यक्ष राकेश नारायण माथुर ने बताया कि बुकिंग रद कराने वाले पर्यटकों की संख्या रोजाना बढ़ रही है। शहर में होटल, गेस्ट हाउस और लाज की कुल संख्या 350 के करीब है। इनमें आठ हजार कमरे और 25 हजार पर्यटकों के ठहरने की क्षमता है।बुकिंग होने पर होटल व रेस्तरां संचालकों ने नव वर्ष के जश्न के लिए व्यवस्था चाक चौबंद कर ली थी। अब पर्यटक बुकिंग रद कर रहे हैं तो उनकी बुकिंग धनराशि लौटानी पड़ रही है। माथुर ने बताया कि बुकिंग रद कराने वाले पर्यटक कोरोना को इसकी वजह बता रहे हैं।कोरोना के चलते बीते वर्ष भी कारोबार ठंडा रहा था। इस वर्ष कारोबारियों को उछाल की उम्मीद थी, बुकिंग भी उम्मीद के मुताबिक मिली थी, लेकिन अब बुकिंग रद होने से कारोबारी चिंतित हैं।ये वीकेंड पर्यटकों के लिए काफी यादगार रहा। बीते रोज रात को मसूरी और नैनीताल में बर्फ की हल्की फुहारें देखने को मिली। इस दौरान यहां मौजूद पर्यटकों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा और वे सड़क पर उतकर खूब झूमे। कई पर्यटक तो इसी आस में मसूरी आते हैं कि उन्हें बर्फबारी का लुत्फ उठाने का मौका मिल सके।


टिप्पणियाँ

Popular Post