सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

चार दिनों में 2500 अंक से ज्यादा गिरा सेंसेक्स, इनवेस्टर्स के डूबे 8 लाख करोड़

  शेयर बाजार में लगातार गिरावट जारी है और हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिनों में भी ये गिरावट देखने को मिल रही है। जिसकी वजह से इक्विटी निवेशकों की संपदा में 8 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा की कमी दर्ज की गई है। शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में बीएसई सेंसेक्स करीब 700 अंक टूटा। पहले मिनट में निवेशकों के करीबन 2.5 लाख करोड़ रुपए डूब गए। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 194.10 अंक या 1.09 प्रतिशत की गिरावट के साथ 17,562.90 पर कारोबार कर रहा था। दूसरी तरफ पॉवरग्रिड और एचयूएल के शेयर लाभ में रहे। पिछले सत्र में तीस शेयरों पर आधारित बीएसई सेंसेक्स 634.20 अंक यानी 1.06 प्रतिशत लुढ़ककर 59,464.62 पर बंद हुआ। ऐसे आपको इस गिरावट के प्रमुख कारणों से अवगत कराते हैं।  वैश्विक बाजारों में नकारात्मक रूख और विदेशी पूंजी की निरंतर निकासी के कारण से दुनिया भर के बाजार गिरावट में हैं। अमेरिका की फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों में बढोतरी की उम्मीद में ग्लोबल बॉन्ड यील्ड में उछाल की वजह से निवेशक जोखिम लेने से बच रहे हैं और जिसकी वजह से अपने पोर्टफोलियो में कम रिस्की असेट्स शामिल कर रहे हैं।  न केवल अमेरिका में

उत्तराखंड: दिव्य और भव्य बनेगा सैन्यधाम, सीएम ने अधिकारियों को दिए निर्देश

 



 देहरादून /   मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड देवभूमि के साथ ही वीर भूमि भी है। यहां सैन्यधाम को भव्य और दिव्य बनाया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों की भी बैठक ली। इस दौरान सीएम धामी ने निर्देश दिए कि जल्द से जल्द सैन्यधाम का निर्माण शुरू किया जाए। इसके लिए चरणबद्ध तरीके से कार्ययोजना तैयार की जाए।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की अध्यक्षता में सोमवार को मुख्यमंत्री आवास में सैन्यधाम के संबंध में बैठक आयोजित की गई। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि सैन्यधाम का निर्माण कार्य जल्द शुरू किया जाए। कार्यों की चरणबद्ध कार्ययोजना बनाई जाय। यह सुनिश्चित किया जाए कि निर्माण कार्य शुरू होने में बिल्कुल भी देरी न हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि सैन्यधाम के निर्माण के लिए संबंधित अधिकारियों द्वारा सभी आवश्यक कार्रवाई समय पर पूरी की जाए।इस अवसर पर सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी, प्रमुख सचिव एल फैनई, सचिव अमित नेगी, शैलेष बगोली, मेजर जनरल सम्मी सभरवाल (से.नि.), जिलाधिकारी देहरादून डा. आर. राजेश कुमार और सबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

-देहरादून जिले के गुनियाल गांव में होना है सैन्यधाम का निर्माण।

-उत्तराखंड के पांचवें धाम के रूप में भी जाना जाएगा सैन्यधाम।-50 बीघा भूमि पर होगा सैन्यधाम का निर्माण।

-63 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जाएगा सैन्य धाम।

-प्रांगण में बनाया जाएगा बाबा जसवंत सिंह और बाबा हरभजन सिंह का मंदिर।

-इन दोनों वीर सैनिकों को सेना में भी पूजा जाता है।

-दो साल के भीतर सैन्यधाम निर्माण का लक्ष्य।

सैन्यधाम में द्वितीय विश्वयुद्ध से लेकर अब तक उत्तराखंड के जितने भी सैनिक शहीद हुए हैं, उन सबके चित्र लगाए जाएंगे। इसके साथ ही उन सभी के बारे में जानकारी भी दी जाएगी। इसके अलावा सैन्य धाम में लाइट एंड साउंड सिस्टम, टैंक, जहाज के साथ ही अन्य सैन्य उपकरण भी रखे जाएंगे।

टिप्पणियाँ

Popular Post