सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

हरक की घर वापसी, बहू अनुकृति ने भी थामा कांग्रेस का हाथ

देहरादून: पांच दिनों तक मचे सियासी घमासान के बाद आखिरकार पूर्व कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत और उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने आज दिल्‍ली में कांग्रेस का दामन थाम लिया।  इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री हरीश रावत समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद रहे। इस दौरान हरक सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश का विकास मेरा लक्ष्‍य है। उन्होंने कहा कि मैं बिना शर्त कांग्रेस परिवार में शामिल हुआ हूं।हरक ने कहा मैंने 20 साल तक कांग्रेस के लिए काम किया है। मैं सोनिया गांधी का एहसान किसी भी कीमत पर नहीं भूलूंगा । वहीं देर आयद दुरूस्त आये की कहावत चरितार्थ करते हुये कांग्रेस में पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत की वापसी पर पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस की प्रदेश चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष हरीश रावत की आपत्ति के बाद पेच फंसा हुआ था । हालांकि सरकार तोडने में हरक की भूमिका जिसमे उन्होंने वर्ष 2016 में बगावत कर उनकी सरकार गिराई भी हरीश रावत बहुत नाराज थे जिसको लेकर हरीश रावत के तीखे तेवरों में अभी कमी नहीं आई है। वह हरक सिंह रावत को लोकतंत्र का गुनहगार बताते हुए पहले माफी मांगने पर जोर देते रहे। लेकिन हरीश रावत कह चुके थे कि हरक की

हिंदू धर्म छोड़ने वालों की घर वापसी कराएं मंदिर और मठ: तेजस्वी सूर्या

 


 भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या के एक बयान से विवाद बढ़ गया है। दरअसल, तेजस्वी सूर्या का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे हिंदू धर्म को छोड़कर जाने वालों को घर वापसी कराने की बात कर रहे हैं। तेजस्वी सूर्या कर्नाटक में आयोजित एक कार्यक्रम में अपना संबोधन दे रहे थे। अपने संबोधन में तेजस्वी सूर्या ने कहा कि हिंदुओं के पास एक ही विकल्प बचा है कि उन सभी लोगों को वापस लाया जाए जो हिंदू धर्म छोड़कर बाहर चले गए हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि जिन्होंने अपनी मातृ धर्म को छोड़ दिया है। उन्हें वापस लाया जाना चाहिए। मेरा अनुरोध हर मठ-मंदिर से है कि इसके लिए वह वार्षिक लक्ष्य तय करें।

अपने संबोधन में तेजस्वी सूर्या ने यह भी कहा कि चाहे जबरन या फिर धोखे से, लालच से या फिर चोरी से जिन्हें हिंदू धर्म से अलग किया गया उन्हें वापस लाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा कोई दूसरा समाधान फिलहाल नहीं बचा है। इसके लिए हर मंदिर और मठ को यह टारगेट करना चाहिए कि साल में ज्यादा से ज्यादा लोगों की घर वापसी कराई जाए। तेजस्वी सूर्या का यह बयान ऐसे समय में आया है जब देश में हिंदू और हिंदुत्व को लेकर बड़ा विवाद छिड़ा हुआ है। ऐसे में उनके इस बयान से एक बार फिर से भाजपा पर विपक्ष हमलावर हो सकता है। इससे पहले तेजस्वी सूर्या ने कांग्रेस पर कोरोना वायरस रोधी भारत निर्मित टीके को लेकर संशय का माहौल बनाने का आरोप लगाते हुए जानना चाहा था कि कि क्या राहुल गांधी ने अभी तक टीका लगवाया हैलोकसभा में ‘कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थिति’ पर चर्चा में भाग लेते हुए भाजपा सांसद ने कहा कि देश जानना चाहता है कि क्या कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अभी तक टीका लगवाया है और अगर लगवाया है तब किस टीके की खुराक ली है? सूर्या ने कहा कि उन्होंने (राहुल) टीकाकरण के बारे में ट्वीट क्यों नहीं किया, क्या उन्हें भारत निर्मित दो टीकों के बारे में गर्व नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि जब पूरा देश कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए एक साथ आया, तब विपक्ष ने दिखाया कि ‘‘वे देश हित के ऊपर अपनी संकीर्ण राजनीति को रखते हैं।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस के एक सदस्य दावा कर रहे हैं कि उनके नेता राहुल गांधी पहले ही महामारी, उसके प्रभाव और अर्थव्यवस्था पर आने वाले खतरे से आगाह कर रहे थे। 
Sources:PrabhaShakshi Samachar

टिप्पणियाँ

Popular Post