सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड: 28 जनवरी तक होगा नामांकन, विधानसभा चुनाव की अधिसूचना जारी

निर्वाचन आयोग ने 70 सदस्यीय उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया है जिसके तहत नामांकन पत्र 28 जनवरी तक भरे जा सकेंगे। उत्तराखंड के सरकारी गजट में प्रकाशित अधिसूचना के अनुसार नामांकन पत्रों की जांच 29 जनवरी को की जाएगी। उम्मीदवार 31 जनवरी तक अपना पर्चे वापस ले सकेंगे। मतदान 14 फरवरी को कराया जाएगा। निर्वाचन आयोग की पूर्व की घोषणा के अनुसार सभी विधानसभा क्षेत्रों के मतों की गणना 10 मार्च को कराई जाएगी। अधिसूचना के अनुसार मतदान सुबह आठ बजे से शाम छह निर्धारित मतदान केन्द्रों पर कराया जाएगा। आयोग ने कहा है कि उत्तराखंड में 12 मार्च से पहले निर्वाचन की पूरी प्रक्रिया करा ली जाएगी। वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 23 मार्च तक है। 

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद में हथियारबंद नक्सलियों ने सिंचाई विभाग के काम पर लगी 7 से अधिक गाड़ियों को किया आग के हवाले

 


 छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में लंबे समय बाद नक्सलियों ने फिर अपनी उपस्थिति दर्ज कराई है। मैनपुर ब्लॉक के पीपलखुटा में माओवादियों ने सिंचाई विभाग के काम पर लगी गाड़ियों व मशीनों को आग के हवाले कर दिया। नक्सलियों ने जिस गांव के पास वारदात को अंजाम दिया है वह तहसील मुख्यालय से 72 किलोमीटर दूर है। सिंचाई विभाग द्वारा यहां केनाल निर्माण का कार्य करवाया जा रहा था। पुलिस अभी घटना की पुष्टि नहीं कर रही है। मिली जानकारी के मुताबिक गरियाबंद जिले में लंबे समय बाद नक्सलियों ने एक बार फिर उत्पात मचाया है। सिंचाई विभाग द्वारा अमलीपदर थाना क्षेत्र के पीपलखुटा में 4 करोड़ रुपए की लागत से टैंक निर्माण व केनाल निर्माण का कार्य कराया जा रहा है। ठेका कंपनी एस कुमार कंस्ट्रक्शन की गाड़ियां व मशीने वहां खड़ी थी। बुधवार की देर शाम हथियारबंद नक्सली निर्माण स्थल पर पहुंचे और एक चैन माउंटेन, 2 एजाक्स मशीन, टैंकर, ट्रैक्टर सहित कुछ अन्य वाहनों में आग लगा दी। नक्सलियों द्वारा सात से ज्यादा वाहनों को आग लगाने की बातें सामने आई है। सिंचाई विभाग के अफसरों की घटना की पुष्टि की है। नक्सली हमेशा से निर्माण कार्यों का विरोध करते आ रहे हैं। पीपलखुटा के निर्माण स्थल पर बुधवार को बड़ी संख्या में हथियारबंद नक्सली आ धमके। निर्माण कार्य में लगे मुंशी और मजदूरों से नक्सलियों ने धमकाया और चले गए। घटना के बाद मुंशी चैतन्य वर्मा (26) मौके से लापता है। वहीं नक्सल वारदात के बाद सिंचाई विभाग के अफसरों व ठेका कंपनी के कर्मियों में दहशत है। पुलिस अब तक शिकायत नहीं मिलने की बात कह रही है।

टिप्पणियाँ

Popular Post