सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

गुजरात : फ्लोरा कंपनी के सॉल्वेंट प्लांट में धमाके के बाद लगी भीषण आग, 30 श्रमिक जख्‍मी

 


 गुजरात के पंचमहाल जिले में फ्लोरा कंपनी के सॉल्वेंट प्लांट में ब्लास्ट के बाद आग लग गई। इस हादसे में करीब 30 श्रमिकों के जख्मी होने की खबर है। गुजरात के पंचमहाल जिले के घोघंबा गांव के पास स्थित फ्लोरा कंपनी के सॉल्वेंट प्लांट में गुरुवार सुबह अचानक धमाका हुआ और भीषणआग लग गई। धमाके की आवाज दूर-दूर तक सुनाई दी गई तथा उसके बाद प्लांट में आग लग गई इस हादसे में लगभग 30 श्रमिक जख्मी हुए हैं जिन्हें उपचार के लिए नजदीक के अस्पताल भेजा गया है। जिला पुलिस अधीक्षक एवं अन्य पुलिस के अधिकारी तुरंत मौके पर पहुंचे फायर ब्रिगेड की 4 गाड़ियां भी आग पर काबू पाने के लिए घटनास्थल पर पहुंची। घटना के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल सका है। पुलिस एवं फायर ब्रिगेड के कर्मचारी राहत एवं बचाव कार्य में लगे हुए हैं।


मिली जानकारी के अनुसार धमाके के साथ ही आग तेजी से फैलती चली गई। हालांकि ये हादसा सुबह के समय हुआ था इसलिए कंपनी में श्रमिकों की संख्‍या कम थी। आग लगते ही पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया क्‍योंकि इस कंपनी के पास अन्‍य कंपनियों के भी प्‍लांट बने हुए हैं। घटना की सूचना मिलते ही पंचमहल जिला पुलिस, कलेक्टर और एसडीएम भी घटनास्‍थल पर पहुंच गए। मौके पर मौजूद दमकल वाहनों ने आग को काबू कर फैलने से रोका।आग बुझाने के लिए कालोल और गोधरा से भी दमकल वाहन बुलाये गए हैं। दमकल कर्मियों की सूझ-बूझ से आग को जल्‍द ही प्‍लांट से बाहर फैलने से रोक लिया गया। इस कंपनी में रेफरन गैस के कई टैंक भरे हुए थे अगर समय रहते आग पर काबू नहीं पाया जाता तो हादसा और बड़ा हो सकता था। दमकल कर्मियों का कहना था कि अगर इनमें आग लगा जाती तो आग पर काबू करना मुश्किल हो जाता और पूरे इलाके में ही आग फैल जाती।

टिप्पणियाँ

Popular Post