सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद सिंह रावत नहीं लड़ेंगे चुनाव

 देहरादून : बहुत बड़ी खबर निकल कर सामने आ रही है कि उत्‍तराखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत इस बार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। जानकारी के मुताबिक उन्‍होंने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर यह इच्‍छा जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि धामी के नेतृत्‍व में भाजपा की सरकार बनाने के लिए काम करना चाहता हूं।  जेपी नडडा को लिखे पत्र में उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य करने का अवसर देने के लिए आभार भी व्‍य‍क्‍त किया है। साथ ही ये भी कहा है कि प्रदेश में युवा नेतृत्‍व वाली सरकार अच्‍छा काम कर रही है। उन्‍होंने कहा, बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों में मुझे चुनाव नहीं लड़ना चाहिए। इसलिए मेरा अनुरोध स्‍वीकार कर लिया जाए। आपको बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पत्र में लिखा कि मान्‍यवार पार्टी ने मुझे देवभूमि उत्‍तराखंड के मुख्‍यमंत्री के रूप में सेवा करने का अवसर दिया यह मेरा परम सौभाग्‍य था। मैंने भी कोशिश की कि पवित्रता के साथ राज्‍य वासियों की एकभाव से सेवा करुं व पार्टी के संतुलित विकास की अवधारणा को पुष्‍ट करूं। प्रधानमंत्री जी का भरपूर सहयोग व आशीर्वाद मु

आईआईटी पहुंचे प्रधानमंत्री, छात्रों से कहा- यहां से निकलें तो 2047 के भारत का सपना लेकर

 


प्रधानमंत्री मोदी आज कानपुर दौरे पर हैं। उनके आगमन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। पीएम मेट्रो ट्रेन समेत दो परियोजनाओं को हरी झंडी दिखाएंगे। इसके साथ ही आईआईटी के दीक्षांत समारोह में वे छात्रों को डिग्री व पदक प्रदान करेंगे। पीएम के साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप पुरी भी रहेंगे। पढ़िए पल पल की अपडेट...

प्रधानमंत्री ने अंत में छात्रों को उनके करियर में सफल होने की शुभकामना देते हुए अपने भाषण को खत्म किया।

आप कंफर्ट और चैलेंज में से चैलेंज को चुनें क्योंकि जो आराम को चुनता है वो पीछे रहता है। आपको ऐसा इंसान बनना है जो मुश्किलों को चुनकर उनका हल निकालता है। आप लगातार इनोवेशन में लगे रहते हैं। इन सबके बीच मेरा आप सबसे आग्रह है टेक्नोलॉजी की दुनिया में रहते हुए ह्युमन वैल्यू को मत भूलिएगा, अपने रोबोट वर्जन मत बनिएगा। क्योरिसिटी को बनाए रखिएगा, इंटरनेट पर जरूर काम करिएगा लेकिन इमोशन को मत भूलिएगा। ह्युमन इंटेलिजेंस को भी याद रखिएगा, लोगों के साथ अपना कनेक्ट बनाए रखिएगा। लोगों से जुड़ाव आपके व्यक्तित्व की ताकत बढ़ाएगा। ऐसा न हो कि जब इमोशन दिखाने का वक्त आए तो आपका दिमाग एचटीटीपी 404 दिखाए, पेज नॉट फाउंड दिखाए।

पीएम ने छात्रों से कहा, आजादी से अब तक देश बहुत समय गंवा चुका है, दो पीढ़ियां निकल गईं, अब हमें एक पल भी नहीं गंवाना है। आपको मेरी बातों में अधीरता नजर आती होगी मैं चाहता हूं कि आप भी ऐसे ही अधीर बनें और अपने लक्ष्यों को प्राप्त करें। स्वामी विवेकानंद ने कहा है, यदि हम आत्मनिर्भर नहीं होंगे तो हमारा लक्ष्य कैसे पूरा होगा, देश अपनी डेस्टिनी तक कैसे पहुंचेगा। पीएम ने कहा, मेरा भरोसा है कि आप ऐसा कर सकते हैं। आपको ही करना है, आप ही करेंगे, ये अनंत संभावनाएं आपके लिए हैं आप ही इसे संभव करेंगे। आप ये भलिभांति जानते हैं कि बीते वर्षों में किस तरह देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए देश ने कैसा काम किया है जिससे आपका काम आसान हो। देश युवाओं के लिए तमाम योजनाओं के जरिए रास्ते बना रहा है। इज ऑफ डूइंग बिजनेस को सुधारा जा रहा है। आज हमारे पास 75 से अधिक यूनिकॉर्न्स हैं। 50 हजार से ज्यादा स्टार्टअप है। आज भारत दुनिया का स्टार्टअप हब बनकर उभरा है। हाल में आई एक रिपोर्ट के अनुसार भारत दुनिया के कई देशों को पीछे छोड़कर तीसरे नंबर का यूनिकॉर्न बन गया है। जो आईआईटी को जानता है जो यहां के टैलेंट को जानता है, वो जानता है कि ये कुछ भी करेंगे। मैं विश्वास दिलाता हूं कि सरकार हर तरह से आपके साथ है। 

पीएम ने कहा कि 5जी टेक्नोलॉजी में तो आईआईटी कानपुर का काम ग्लोबल स्टैंडर्ड का बन गया है। ऐसे में आपका काम कई गुना बढ़ गया है। एनर्जी सेविंग से लेकर हर खेल जैसे क्षेत्र तक में आपका काम बढ़ गया है। आज जो बड़ी संभावनाएं हैं वो आपके लिए हैं, यहां सिर्फ आपके लिए देश के प्रति जिम्मेदारी ही नहीं बल्कि अपने सपनों को पूरा करने का अवसर भी है। आज आप 21वीं सदी के जिस कालखंड में हैं वो बड़े लक्ष्यों को तय करने और उन्हें पाने के लिए पूरी मेहनत करने का है। आज समस्याओं के समाधान के लिए संकल्प लिए जाते हैं वो भी स्थायी। आत्मनिर्भर भारत इसका बड़ा उदाहरण है।

पीएम ने कहा कि आपने यहां आईआईटी की लीगेसी को जिया है। भारत के वर्तमान और इतिहास को जिया है। आज आप अपने उज्ज्वल भविष्य की शुरुआत कर रहे हैं। आज मैं ये भी कहूंगा मेरी आपसे यही कामना रहेगी कि इस साल भारत ने अपनी आजादी के 75वें वर्ष में प्रवेश किया है। आजादी की लड़ाई में कानपुर का अपना योगदान रहा है। एक छोर से दूसरे छोर तक अगर सैर करें तो ऐसा लगता है कि हम आजादी के संग्राम की सैर कर रहे हैं। देश को गति देने का दायित्व आपका है। 1930 में जब दांडी यात्रा शुरू हुई थी तो उसने उस समय पूरे देश को कितना आंदोलित किया था, तब उसने भारत के जन-जन में अभूतपूर्व विश्वास भर दिया। आज आप भी उन जैसे गोल्डन एरा में कदम रख रहे हैं। ये आपके जीवन का अमृतकाल है। अमृत महोत्सव की इस घड़ी में जब आईआईटी से निकलें तो 2047 का भारत कैसा होगा इसका सपना लेकर निकलें। जब आप अपने जीवन के 50 साल पूरा कर रहे होंगे उसके लिए आपको काम करना होगा। मुझे पता है कि आईआईटी कानपुर के माहौल ने आपको ऐसी ताकत दी है कि आपको अपने सपने पूरे करने से कोई रोक नहीं सकता। ये पूरी सदी टेक्नोलॉजी ड्रिवेन है। 

पीएम ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा, आज कानपुर के लिए दोहरी खुशी का दिन है। एक तो कानपुर को मेट्रो मिल रही है दूसरा आईआईटी कानपुर से आप जैसे होनहार युवा मिल रहे हैं। आज जिन छात्रों को सम्मान मिला है उन्हें भी बहुत बहुत बधाई। आप आज जहां पहुंचे हैं, जो योग्यता हासिल की है उसके पीछे आपके माता-पिता, टीचर्स, प्रोफेसर जैसे अनगिनत लोग होते हैं। उन सबकी बहुत मेहनत रही है, कुछ न कुछ योगदान रहा है।

समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आईआईटी के सहयोग की सराहना की। साथ ही कहा कि सरकार 5 सालों में 250 स्टार्टअप को बढ़ावा देगी।

आईआईटी के 54वें दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रो.अभय ने सम्मानित किया। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को बतौर विशिष्ट अतिथि समारोह में शामिल होना था लेकिन वह किन्हीं कारणों से नहीं आईं।

आईआईटी के 54वें दीक्षांत समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने के लिए पहुंच चुके हैं। पीएम पांच मेधावियों को पदक देंगे। उनके साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं। समारोह में कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग के बीटेक छात्र अभ्युदय पांडेय को प्रेसीडेंट गोल्ड मेडल, केमिकल इंजीनियरिंग-कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग की वसुंधरा राकेश को डायरेक्टर गोल्ड मेडल (4 साल-यूजी प्रोग्राम), इंजीनियरिंग कर रही निवेदिता को डायरेक्टर गोल्ड मेडल (पांच वर्षीय यूजी प्रोग्राम), इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग के यश माहेश्वरी को रतन स्वरूप स्मृति पुरस्कार और प्रियंका भारती को डॉ. शंकरदयाल शर्मा मेडल से सम्मानित किया जाएगा। 1723 छात्रों को डिग्रियां मिलेंगी।

80 पुरस्कार व मेडल दिए जाएंगे और 21 छात्रों को उत्कृष्ट पीएचडी थीसिस पुरस्कार दिया जाएगा। तीन विभूतियों प्रो. रोहिणी एम गोडबोले, सेनापथी क्रिस गोपालकृष्णन और पं. अजोय चक्रवर्ती को मानद उपाधि दी जाएगी। समारोह तीन सत्रों में होगा। पहले सत्र में प्रधानमंत्री रहेंगे। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कानपुर पहुंच चुके हैं। खराब मौसम की वजह से उनका हेलीकॉप्टर उड़ान नहीं भर सका इसलिए प्रधानमंत्री चकेरी एयरपोर्ट से आईआईटी के लिए सड़क मार्ग से रवाना हुए। प्रधानमंत्री के साथ मुख्यमंत्री भी शहर पहुंच चुके हैं।

- कार्यक्रम स्थलों के आसपास की 300 इमारतों में लगाई गई रूफ टॉप ड्यूटी

- एयरपोर्ट से लेकर हेलीपैड को भी सुरक्षा के लिहाज से कब्जे में लिया गया

- पूरे शहर के होटल व धर्मशालाओं में की जा रही चेकिंग, एलआईयू भी सक्रिय

- 112 नंबर पर नागरिक दे सकते हैं किसी भी असामान्य हरकत की सूचना

- 48 घंटे से शहर में मुख्यालय व बाहरी जनपदों के फोर्स ने डाल रखा है डेरा

- भीड़भाड़ के बीच सादे कपड़े में चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे पुलिस के जवान

- कार्यक्रम में आने वाली 2235 बसों को नंबर लिखा पास दिया गया

- पीएम के सुरक्षा घेरों में पहला आइसोलेशन कार्डेन, दूसरा इनर कार्डेन और तीसरा आउटर कार्डेन बनाया गया 

- हर कार्डेन में तैनात पुलिस कर्मी के पास होगा अलग रंग का पास 

- एंबुलेंस समेत अन्य आवश्यक सेवाओं के वाहनों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर निकालने का प्रबंध

- पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने अलग-अलग जनपदों से आए राजपत्रित अधिकारियों को दिए निर्देश। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली में विभिन्न योजनाओं के कुल 91 हजार लाभार्थी आएंगे। इनमें 68 हजार लाभार्थी कानपुर के तो 23 हजार लाभार्थी कन्नौज, कानपुर देहात, औरैया और फतेहपुर के हैं। इनके बैठने के लिए 70 ब्लॉक बनाए गए हैं। इनको लाने की जिम्मेदारी 170 जिला स्तरीय अधिकारियों को सौंपी गई है। जिला प्रशासन ने ग्रामीण क्षेत्र के लाभार्थियों को लाने के लिए 1235 बसों को लगाया है। वहीं दूसरे चार जिलों से लाभार्थियों को लाने के लिए 460 बसों को लगाया गया है।प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना से संगीता सिंह, सारंग प्रीत सिंह, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना से वरुण, उत्कर्ष निगम, अंशुल कटियार, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना से गौरी तिवारी, फरजाना, सुषमा कुमारी, वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट से सतीश वर्मा, आशा शर्मा, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन से रुचि गुप्ता, संगीता गुप्ता, सपना निषाद, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन से पप्पी सचान, दीपशिखा, निवेदिता मंडल, सविता तिवारी, बबिता जायसवाल, अनोमा गौतम, सपना कुशवाहा, मंजूलता, प्रियंका सचान, प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण से रीना, पीएम आवास योजना शहरी से रामआसरे, मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण से बबिता।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कानपुर आ रहे हैं। सबसे पहले वे आईआईटी के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे। इसके बाद निरालानगर रेलवे मैदान में रैली को संबोधित करने के साथ ही मेट्रो ट्रेन समेत दो परियोजनाओं को हरी झंडी दिखाएंगे।वे सुबह 11 आएंगे और शाम 4:40 बजे लौटेंगे। आईआईटी के दीक्षांत समारोह में वे छात्रों को डिग्री व पदक प्रदान करेंगे। इसके बाद आईआईटी स्टेशन से मेट्रो ट्रेन में बैठकर गीतानगर तक आएंगे। यहां से सड़क मार्ग से चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय जाएंगे।इसके बाद हेलीकाप्टर से रैली स्थल पहुंचेंगे। यहीं पर परियोजनाओं का बटन दबाकर लोकार्पण करेंगे। वैसे तो कानपुर में मेट्रो का बजट 11076 करोड़ है, लेकिन अभी आईआईटी से मोतीझील के बीच तैयार रूट पर ही मेट्रो ट्रेन को हरी झंडी देंगे। 350 करोड़ से बने भारत पेट्रोलियम टर्मिनल का भी लोकार्पण करेंगे। प्रधानमंत्री 25 लाभार्थियों से सीधे मुखातिब होंगे। उनके साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप पुरी भी रहेंगे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निरालानगर रैली स्थल में 25 लाभार्थियों से खुद बात करेंगे। इसके लिए अलग से 10 मिनट का समय निर्धारित किया गया है। मंच पर पहुंचने से पहले ही इनसे मिलेंगे। जिला प्रशासन ने ऐसे 25 लाभार्थियों को चिह्नित कर लिया है। लाभार्थियों को तीन समूहों में रखा गया है। इनसे मोदी योजनाओं के बारे में बातचीत करेंगे।


टिप्पणियाँ

Popular Post