सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

जल संस्थान कर्मचारियों ने दी आंदोलन की चेतावनी

  


उत्तराखंड जल संस्थान कर्मचारी संघ गढ़वाल मंडल शाखा ने मुख्य महाप्रबंधक को ज्ञापन देकर कर्मचारियों की समस्याओं को हल करने की मांग की है।मंडलीय अध्यक्ष श्याम सिंह नेगी, महामंत्री शिशुपाल सिंह रावत ने बताया कि चार अक्तूबर को दून के अग्रवाल धर्मशाला में हुई गढ़वाल मंडल कार्यसमिति बैठक में कर्मचारियों की समस्याओं को 15 दिन में दून करने की मांग उठाई गई थी। इसमें जल संस्थान में कार्यरत सभी कार्मिकों की सेवापुस्तिका की जांच पेंशन विभाग से करवाने, विभागीय ढांचा 2017 के अनुसार पाइप लाइन अधीक्षक के पांच पदों पर पाइप लाइन हेड फिटर को पदोन्नति का लाभ देने, पेंशन धारकों के उच्च तकनीकी योग्यता वाले बच्चों को संविदा, आउटसोर्स, उपनल के माध्यम से नियुक्ति में राहत देने, आईटीआई धानक पम्प चालक संवर्ग में पदोन्नति का पहला पद शिफ्ट इंचार्ज, दूसरी पदोन्नति का पद पम्प हाउस अधीक्षक पर पदोन्नति का लाभ देने, एसीपी, एमएसीपी का लाभ कार्यरत कर्मचारियों को देने, राजकीय कर्मचारियों की तरह जल संस्थान के समस्त पद धारक कर्मचारियों को समान रुप से 1200 वाहन भत्ता सुविधा देने, विभाग में ठेकेदारी प्रथा बंद करने समेत कुल 12 सूत्रीय मांग पत्र तैयार किया गया था। इस मांग पत्र को दुबारा सीजेएम को भेजा गया है। पदाधिकारियों ने कर्मचारियों की समस्या का समाधान न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है।

टिप्पणियाँ

Popular Post