सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

दिसंबर में उत्तराखंड आ सकते हैं राहुल गांधी,मोदी के दौरे पर होगा जबावी हमला

    देहरादून /  भाजपा द्वारा चुनावी तैयारियों को गति देने और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के जवाब में कांग्रेस भी उत्तराखंड में राहुल गांधी का दौरा कराने की तैयारी में है। माना जा रहा है कि दिसंबर में कुमाऊं अथवा गढ़वाल मंडल में राहुल गांधी का दौरा कराया जाएगा। वहीं, चुनावी रणनीति पर चर्चा करने के लिए प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल रविवार को दिल्ली पहुंचे और प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव से मुलाकात की। वह सोमवार को अन्य केंद्रीय पदाधिकारियों से भी मुलाकात करेंगे। आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए कांग्रेस भी चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई है। इस समय कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रदेश भर में गांव-गांव कांग्रेस अभियान चला रहे हैं। इसके तहत विभिन्न इलाकों में रात्रि विश्राम और जनसभाओं का दौर चल रहा है। वहीं, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दौरे के जवाब में कांग्रेस भी वरिष्ठ पार्टी नेताओं का प्रदेश में दौरा कराने की तैयारी कर रही है। इस कड़ी में दिसंबर माह में वरिष्ठ नेता राहुल गांधी की सभा कराने के लिए केंद्रीय नेतृत्व से वार्ता चल रही है। माना जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष अपने दिल्ली दौरे क

कंगना के बयान पर भड़के सेनानी आश्रित परिवार,पद्मश्री पुरस्कार वापस लेने की मांग

 


 फिल्म अभिनेत्री कंगना रणौत के विवादित बयान पर अब स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति भी खुलकर सामने आ गई है। समिति ने अपर जिलाधिकारी पीएल शाह के माध्यम से राष्ट्रपति को को ज्ञापन भेजकर कंगना रणौत के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। समिति पदाधिकारियों ने कहा कि कंगना ने स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है। कंगना के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर पद्मश्री पुरस्कार वापस लेना चाहिए।

स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी परिवार समिति के महासचिव जितेंद्र रघुवंशी ने कहा कि अभिनेत्री कंगना रणौत का बयान देश को वास्तविक आजादी 2014 के बाद मिली और 1947 की आजादी अंग्रेजों द्वारा भीख में दी गई, बेहद शर्मनाक है। स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान है। उन्होंने कहा कि बयान उस समय दिया है जब देश भारत की आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है।समिति पदाधिकारियों ने कहा कि कंगना के बयान से स्वतंत्रता सेनानियों के उत्तराधिकारियों में आक्रोश है। 

उत्तराधिकारी किसी भी कीमत पर सेनानियों का अपमान नहीं बर्दाश्त करेंगे।समिति उपाध्यक्ष मुरली मनोहर ने कहा कि कंगना रणौत को दिया पद्मश्री पुरस्कार वापस लिया जाए। उनके विरुद्ध देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया जाए। अपर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपने के बाद सेनानी परिवारों नगर आयुक्त कार्यालय पहुंचे।नगर आयुक्त दयानंद सरस्वती को ज्ञापन सौंपा। कहा कि शहीद जगदीश वत्स स्वतंत्रता सेनानी सेवा सदन का प्रस्ताव बोर्ड में पास कराया जाए। 

स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के नाम जो सड़कों के नामकरण के प्रस्ताव नगर निगम में प्रस्तावित हैं, यथाशीघ्र कराया जाए।इस दौरान समिति संरक्षक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी भारत भूषण विद्यालंकार, सदस्य सुभाष घई, कार्यकारी अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार सैनी, उपाध्यक्ष मुरली मनोहर, महासचिव जितेंद्र रघुवंशी, धर्मवीर धींगरा, नवीन शरण निश्चल, गोपाल नारसन, नरेश कुमार वर्मा, अशोक टंडन, यशपाल सिंह, अशोक कुमार चौहान, सुभाष चौहान और राकेश कुमार चौहान मौजूद रहे।



टिप्पणियाँ

Popular Post