सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

उत्तराखंड: मिल जाएंगेअगले माह तक मुख्य सूचना आयुक्त,नियुक्ति की कवायद तेज

 


  देहरादून /  उत्तराखंड सूचना आयोग में रिक्त मुख्य सूचना आयुक्त और तीन सूचना आयुक्त समेत कुल चार पदों पर नियुक्ति अगले माह तक हो जाएगी। सरकार ने इस संबंध में कसरत तेज कर दी है। सूचना आयोग में मुख्य सूचना आयुक्त का पद बीते मई माह से रिक्त है। मुख्य सूचना आयुक्त रहे शत्रुघ्न सिंह ने कार्यकाल पूरा होने से पहले ही पद से इस्तीफा दे दिया था। तकरीबन पांच महीने से यह पद रिक्त चल रहा है।इसीतरह तीन सूचना आयुक्तों का कार्यकाल भी पूरा हो चुका है। एक सूचना आयुक्त जेपी ममगाईं ने बीती 30 सितंबर को कार्यकाल पूरा किया। वहीं अन्य दो सूचना आयुक्तों का कार्यकाल पहले ही पूरा हो चुका है। आयोग में मुख्य सूचना आयुक्त समेत ये सभी पद रिक्त होने से कामकाज पर असर पड़ रहा है। खासतौर पर आयोग में होने वाली जन सुनवाई और उसके निस्तारण की गति धीमी हो चुकी है।



सरकार इन पदों पर नियुक्ति की कवायद शुरू की जा चुकी है। मुख्य सूचना आयुक्त पद के लिए 37 आवेदन आयोग को प्राप्त हुए हैं। इसीतरह सूचना आयुक्त के तीन रिक्त पदों के लिए 137 से ज्यादा आवेदन मिले हैं। सरकार ने मुख्य सूचना आयुक्त व सूचना आयुक्त के रिक्त पदों के लिए चयन समिति गठित की है। समिति के अध्यक्ष मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी हैं, जबकि संसदीय कार्यमंत्री बंशीधर भगत, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह और मुख्य सचिव बतौर सदस्य शामिल हैं।मुख्यमंत्री धामी की अध्यक्षता में उनके आवास पर चयन समिति की एक बैठक हो चुकी है। बैठक में आवेदनों पर विचार किया गया। उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक बैठकों का दौर अभी जारी रहेगा। सरकार इन पदों पर नियुक्ति से पहले आवेदनों का परीक्षण कर रही है। अगले महीने तक रिक्त सभी चार पदों पर नियुक्ति हो सकती है।

टिप्पणियाँ

Popular Post