सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश

    नई दिल्‍ली /   सुप्रीम कोर्ट त्रिपुरा में हाल ही में हुई सांप्रदायिक हिंसा के मामले में राज्य पुलिस की कथित मिली-भगत और निष्क्रियता के आरोपों की स्वतंत्र जांच के लिए दाखिल याचिका पर सुनवाई के लिए सहमत हो गया है। सुप्रीम कोर्ट ने इस याचिका पर सोमवार को केंद्र और राज्य सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। न्यायमूर्ति डीवाई चन्द्रचूड़ और न्यायमूर्ति एएस बोपन्ना की पीठ ने सरकारों को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने का निर्देश दिया है।  अधिवक्ता ई. हाशमी की ओर से दाखिल याचिका पर अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने पैरवी की। उन्‍होंने सर्वोच्‍च अदालत से कहा कि वे हालिया साम्प्रदायिक दंगों की स्वतंत्र जांच चाहते हैं। इस मामले में अब दो हफ्ते बाद सुनवाई होगी। भूषण ने कहा कि सर्वोच्‍च अदालत के समक्ष त्रिपुरा के कई मामले लंबित हैं। पत्रकारों पर यूएपीए के आरोप लगाए गए हैं। यही नहीं कुछ वकीलों को नोटिस भेजा गया है। पुलिस ने हिंसा के मामले में कोई एफआइआर दर्ज नहीं की है। ऐसे में अदालत की निगरानी में इसकी जांच एक स्वतंत्र समिति से कराई जानी चाहिए। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने याचिका की प्रति केंद्रीय एजेंसी और

सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना का पीएम ने किया उद्घाटन, कहा-अब गरीब के बच्चे भी बनेंगे डॉक्टर

 


 पीएम मोदी ने सिद्धार्थनगर में माधव प्रसाद त्रिपाठी मेडिकल कॉलेज सहित प्रदेश के नौ मेडिकल कॉलेजों का उद्घाटन किया। इसके बाद उन्होंने आर्ट गैलरी का निरीक्षण किया। पीएम मोदी ने संबोधित करते हुए सीएम योगी की तारीफ की।गौरतलब है कि वाराणसी में प्रधानमंत्री मोदी ने कई योजनाओं का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने भोजपुरी में अपना भाषण शुरू किया। पीएम मोदी ने कहा कि मेडिकल कॉलेज से गरीबों का फायदा होगा। देश ने कोरोना महामारी से अपनी लड़ाई में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के बड़े पड़ाव को पूरा किया है। इससे पहले  इसके बाद समाजवादी पार्टी पर हमला बोला। पीएम मोदी ने कहा कि धनतेरस से लेकर दीपावली तक लोकल की जमकर खरीदारी करेंगे तो सभी की दीपावली खुशियों से भर जाएगी।पीएम मोदी ने कहा कि बीते सालों की एक और बड़ी उपलब्धि अगर काशी की रही है, तो वो है बीएचयू का फिर से दुनिया में श्रेष्ठता की तरफ अग्रसर होना। आज टेक्नॉलॉजी से लेकर हेल्थ तक, बीएचयू में अभूतपूर्व सुविधाएं तैयार हो रही हैं।नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज काशी का हृदय वही है, मन वही है, लेकिन काया को सुधारने का ईमानदारी से प्रयास हो रहा है। जितना काम वाराणसी में पिछले 7 साल में हुआ है, उतना पिछले कई दशकों में नहीं हुआ। रिंग रोड के अभाव में काशी में जाम की क्या स्थिति होती थी, इसे आपने वर्षों तक अनुभव किया है। अब रिंग रोड बनने से प्रयागराज, लखनऊ, सुलतानपुर, गोरखपुर, दिल्ली कहीं भी जाना हो तो उसके लिए शहर में नहीं आना पड़ेगा।पीएम ने कहा कि हमसे पहले जो सरकारे में रहे, उनके लिए स्वास्थ्य सेवा पैसा कमाने, घोटालों का जरिया रही है। गरीब की परेशानी देखकर भी, वो उनसे दूर भागते रहे। आज केंद्र और राज्य में वो सरकार है जो गरीब, दलित, शोषित-वंचित, पिछड़े, मध्यम वर्ग, सभी का दर्द समझती है। देश में स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर करने के लिए हम दिन रात एक कर रहे हैं। देश में 80 वायरल डायग्नोस्टिक लैब हैं और इनको और सशक्त बनाया जाएगा। आयुष्मान भारत योजना ने दो करोड़ से अधिक गरीबों का अस्पताल में मुफ्त इलाज भी करवाया है। इलाज से जुड़ी अनेक परेशानियों को आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के जरिए हल किया जा रहा है।पीएम मोदी ने कहा कि आनेवाले चार-पांच सालों में गांव तक क्रिटिकल केयर यूनिट को सशक्त किया जाए, जिन राज्यों में स्थितियां खराब हैं वहां पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है। गांव और शहरों में हेल्थ और वेलनेस सेंटर खोले जा रहे हैं। समय से बीमारियों का पता चलेगा तो इलाज में आसानी होगी। राष्ट्रीय स्तर पर 12 केंद्रीय अस्पतालों में योजना तैयार की जा रही है। 24 घंटे चलने वाले इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर तैयार किए जाएंगे।पीएम मोदी ने कहा कि हमारे हेल्थकेयर सिस्टम में जो बड़ी कमी रही, उसने गरीब और मिडिल क्लास में इलाज को लेकर हमेशा बनी रहने वाली चिंता पैदा कर दी। आयुष्मान भारत, स्वास्थ्य इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन, देश के हेल्थकेयर सिस्टम की इसी कमी को दूर करने का एक समाधान है। पीएम मोदी ने कहा कि गांवों और शहरों में हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोले जा रहे हैं, जहां बीमारियों को शुरुआत में ही डिटेक्ट करने की सुविधा होगी। इन सेंटरों में फ्री मेडिकल कंसलटेशन, फ्री टेस्ट, फ्री दवा जैसी सुविधाएं मिलेंगी।स्वास्थ क्षेत्र में में पिछड़ने के लिए पूर्व की सरकारों को घेरा। कहा कि पहले की सरकारों ने हेल्थ केयर सिस्टम के लिए कुछ नहीं किया। गरीब और मध्ययम आय वर्ग के लोगों के लिए अच्छी स्वास्थय व्यवस्था काफी मुशिकल से मिलता है। लझय ये है कि आने वर्षों में गांव से लेकर महानगर तक क्रिटिकल केयर को सुदृढ किया जाए। पहाड़ और पूर्वोत्तर के राज्यों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद के लंबे कालखंड में आरोग्य पर, स्वास्थ्य सुविधाओं पर उतना ध्यान नहीं दिया गया, जितनी देश को जरूरत थी। देश में जिनकी लंबे समय तक सरकारें रहीं, उन्होंने देश के हेल्थकेयर सिस्टम के संपूर्ण विकास के बजाय, उसे सुविधाओं से वंचित रखा।पीएम मोदी ने कहा कि आज ही कुछ समय पहले एक कार्यक्रम में मुझे उत्तर प्रदेश को 9 नए मेडिकल कॉलेज अर्पण करने का मौका भी मिला है। इससे पूर्वांचल और पूरे UP के करोड़ों गरीबों, दलितों, पिछड़ों शोषितों, वंचितों जैसे समाज के सब वर्गों को बहुत फायदा होगा।पीएम मोदी ने कहा कि देश ने कोरोना महामारी से अपनी लड़ाई में 100 करोड़ वैक्सीन डोज के बड़े पड़ाव को पूरा किया है। बाबा विश्वनाथ के आशीर्वाद से, मां गंगा के अविरल प्रताप से, काशीवासियों के अखंड विश्वास से, सबको वैक्सीन-मुफ्त वैक्सीन का अभियान सफलता से आगे बढ़ रहा है।पीएम मोदी  ने वाराणसी के लिए कई योजनाओं का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम मोदी ने भोजपुरी में अपना भाषण शुरू किया। पीएम मोदी ने दीपावली, छठ समेत आगामी पर्वों की बधाई और शुभकामनाए दीं। कार्यक्रम में उपस्थित नेताओं और अधिकारियों का स्वागत करने के बाद 100 करोड़ टीकरण पर हर्ष जताया।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभा को संबोधित करते हुए आयुष्मान भारत हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन सहित काशी की तमाम परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के मौके पर पीएम का उनकी काशी में स्वागत किया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी में पीएम आयुष्मान भारत स्वास्थ्य अवसंरचना मिशन का शुभारंभ किया। इस दौरान उनके साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वाराणसी में स्वागत किया। पीएम मोदी यहां प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना का शुभारंभ करेंगे। साथ ही प्रधानमंत्री वाराणसी के लिए 5,200 करोड़ से अधिक की विभिन्न विकास परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे।



टिप्पणियाँ

Popular Post