सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

विपक्ष के हंगामे के बीच कृषि कानून वापसी बिल लोकसभा में पास, राकेश टिकट बोले- आंदोलन जारी रहेगा

  विपक्ष के हंगामे के बीच लोकसभा में कृषि कानून वापसी बिल पास हो गया। हालांकि कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ने सदन में विधेयक पर चर्चा की मांग की। इससे पहले विपक्षी सांसदों के नारेबाजी के बीच लोकसभा में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कृषि क़ानून निरसन विधेयक 2021 पेश किया। राज्यसभा में भी आज ही यह बिल पेश किया जाएगा। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने पहले ही तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान कर दिया था। खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम अपने संबोधन में इस बात की घोषणा की थी। उसके बाद इसे कैबिनेट की बैठक में भी मंजूरी मिल गई थी।   टिकैत का बयान वहीं, लोकसभा में कृषि कानून वापसी बिल के पास हो जाने के बाद राकेश टिकैत ने कहा कि जब तक एमएसपी को लेकर हमारी मांगे पूरी नहीं होती तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि जिन 700 किसानों की मृत्यु हुई उनको ही इस बिल के वापस होने का श्रेय जाता है। MSP भी एक बीमारी है। सरकार व्यापारियों को फसलों की लूट की छूट देना चाहती है। आंदोलन जारी रहेगा। टिकैत ने कहा कि तीन मामलों का समाधान हो गया है अभी 1 मामला बाकी है। 1

जौनपुर : देर रात दो मंजिला मकान हुआ धराशाई,पांच लोगों की मौत, पांच घायल

 

 


 जौनपुर /  शहर कोतवाली क्षेत्र के बड़ी मस्जिद के पीछे मोहल्ला रोजा अर्जन में गुरुवार की देर रात लगभग साढ़े 11 बजे जर्जर दो मंजिला कच्चा मकान धराशाई हो गया। इस दौरान आधा दर्जन लोग मलबे में दब गए। जानकारी होने के बाद जिला व पुलिस प्रशासन राहत कार्य में जुट गया। आधी रात करीब एक बजे पांच लोगों की मौत और पांच लोगों के घायल होने की जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों ने दी है। हालांकि, इसके बाद भी मलबे की तलाश की जा रही है। घायलों की हालत चिंताजनक बनी हुई है। अस्पताल में चिकित्सकों को भी अलर्ट कर दिया गया है।रात लगभग 11 बजे परिवार के कुछ सदस्य सो रहे थे वहीं कुछ लोग बैठकर बातें कर रहे थे कि इसी दौरान पूरा मकान भरभरा कर गिर गया। जिसमें चांदनी (18), शन्नो (55), गयासुद्दीन (17),  मोहम्मद असाउददीन ( 19), हेरा( 10) व स्नेहा (12), संजीदा (37), मोहम्मद कैफ (8), मिस्बाह (18) व पड़ोस के अजीमुल्लाह (68)दब गए। स्थानीय लोगों व जिला प्रशासन ने दबे लोगों को निकाल कर घायलावस्था में जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने संजीदा पुत्री जमालुद्दीन, अजीमुल्ला पुत्र कतवारू, मोहम्मद कैफ पुत्र जमालुद्दीन,  मोहम्मद सेफ पुत्र जमालुद्दीन व मिस्वाह पुत्री जमालुद्दीन को मृत घोषित कर दिया। अन्य घायलों का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। घटना की जानकारी होते ही जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा व पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य कराते हुए सभी को जिला अस्पताल पहुंचाया।सबसे पहले तीन लोगों को निकालकर जिला अस्पताल भेजा गया। बताया गया कि मोहल्ला रोजा अर्जन में कमरूद्दीन का दो मंजिला था। जो पुराना व जर्जर हो गया था। रात में एकाएक धराशाई हो गया। स्थानीय लोगों व जिला प्रशासन ने दबे तीन लोगों को निकाल कर घायलावस्था में जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां सभी का इलाज चल रहा है। मलबे में अभी और लोगों के दबे होने की आशंका में मलबा हटाकर तलाश किया जा रहा है।हादसा होने के बाद जानकारी होते ही पुलिस और फायर ब्रिगेड के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और राहत व बचाव कार्य शुरू किया। कई लोगों के रात में दबे होने की वजह से आधी रात के बाद भी राहत और बचाव कार्य चलता रहा। प्रशासनिक अधिकारियों की  देखरेख में पूरा राहत अभियान चल रहा है। लोगों के फंसे होने की आशंका में राहत व बचाव कर्मी सम्भलकर कदम मलबे पर उठा रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार आधी रात के बाद पूरी तसल्ली होने के बाद ही अभियान खत्म किया जाएगा।देर रात हादसे के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद जौनपुर में हुई दुर्घटना में लोगों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त किया है। मुख्यमंत्री ने इस हादसे में घायल लोगों का समुचित उपचार कराने तथा प्रभावित लोगों को हर संभव मदद और राहत प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।


टिप्पणियाँ

Popular Post