सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट में वित्तीय गड़बड़ी का खुलासा

  उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार ‘सूर्यधार झील’ में वित्तीय गड़बड़ी की पुष्टि हुई है। इस पर सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने इस मामले के दोषियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। आपको बता दें कि दो साल पहले जांच शुरू हुई थी, जैसा कि मालूम हो कि  29 जून 2017 को तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सूर्यधार झील के निर्माण की घोषणा की थी। 22 दिसंबर 2017 को इसके लिए 50 करोड़ 24 लाख रुपये का बजट मंजूर करा गया था। इसके बाद 27 अगस्त 2020 को सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने सूर्यधार बैराज निर्माण स्थल का निरीक्षण किया तो उनका खामियां मिलीं। मौके पर खामियां सामने आने के बाद महाराज ने जांच के आदेश दे दिए थे। मामले की जांच को 16 फरवरी 2021 को तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया था। इस समिति ने 31 दिसंबर 2021 को शासन को रिपोर्ट सौंप दी। पर्यटन मंत्री महाराज को चार जनवरी 2022 को रिपोर्ट मिली तो उन्होंने कार्रवाई के निर्देश दे दिए। अब सिंचाई सचिव हरिचंद सेमवाल ने इस मामले में सिंचाई विभाग के एचओडी प्रमुख अभियंता इंजीनियर मुकेश मोहन को कार्रवाई करने के निर्देश

करगिल दिवस : शहीदों को सीएम धामी ने दी श्रद्धांजलि, करीं कई घोषणाएं

 


  देहरादून / करगिल विजय दिवस पर सीएम पुष्कर सिंह धामी ने गांधी स्थित शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ ही सलामी दी। इस दौरान सीएम ने कहा, करगिल विजय दिवस भारतीय सेना के अदम्य साहस और वीरता का परिचायक है। उन्होंने इस अवसर पर कई महत्वपूर्ण घोषणाएं भी की।मुख्यमंत्री ने बताया कि द्वितीय विश्व युद्ध की वीरांगना और वेटरन की मासिक पेंशन आठ से बढाकर दस हजार कर दिया गया है। इसका राज्य के तकरीबन आठ सौ परिवारों को फायदा होगा। वहीं, एनडीए/सीडीएस या समकक्ष लिखित परीक्षा पास करने वाले पूर्व सैनिकों के बच्चों को एसएसबी की तैयारी के लिये पचास हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी।इसके अलावा एक प्रकरण पिछले काफी वक्त से लंबित है। सैनिकों व पूर्व सैनिकों के बच्चों के पठन-पाठन में सहूलियत के लिये हल्द्वानी में एक छात्रावास का भी निर्माण किया जाएगा। गढवाल व कुमाऊं में वीर नारियों व वीरता पदक से अलंकृत सैनिकों के सम्मान में सम्मान समारोह आयोजित किए जाएंगे। सैन्य धाम के विषय में कहा कि इसके लिये सभी जरूरी इंतजाम किये जा रहे हैं और सैन्य धाम जल्द आकार लेने लगेगा। उन्होंने कहा कि एक सितंबर से राज्य में सैनिक सम्मान यात्रा भी आयोजित की जा रही है, जिसके तहत शहीदों के स्वजन और वीरता पदक से अलंकृत सैनिकों को सम्मानित किया जाएगा। वहीं, सैन्य धाम के लिये शहीदों के आंगन की मिट्टी लाई जाएगी।


टिप्पणियाँ

Popular Post