सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

लखीमपुर खीरी हिंसा: जांच कर रही एस.आई.टी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने के लिए निकाला विज्ञापन

    लखनऊ  /   लखीमपुर हिंसा कांड में उत्तर प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी गवाहों को सुरक्षा देने के निर्देश के बाद विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) ने जांच की गति और तेज कर दी है। एसआइटी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने का अनुरोध करते हुए विज्ञापन निकाला है। विज्ञापन में एसआइटी अपने सदस्यों के संपर्क नंबर जारी किया है। प्रत्यक्षदर्शियों से आगे आकर अपने बयान दर्ज कराने और डिजिटल साक्ष्य प्रदान करने के लिए उनसे संपर्क करने का आग्रह करती किया है। एसआइटी का कहना है कि ऐसे लोगों की जानकारी गोपनीय रखी जाएगी और उन्हें पुलिस सुरक्षा दी जाएगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार को आदेश दिया है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के सभी गवाहों को गवाह सुरक्षा योजना, 2018 के मुताबिक पुलिस सुरक्षा दी जाए। साथ ही कोर्ट ने अन्य महत्वपूर्ण गवाहों के बयान भी सीआरसीपी की धारा-164 के तहत मजिस्ट्रेट के समक्ष जल्द दर्ज कराने का निर्देश देते हुए कहा कि अगर बयान दर्ज करने के लिए मजिस्ट्रेट उपलब्ध नहीं हैं तो जिला जज नजदीक के मजिस्ट्रेट से बयान दर्ज कराएंगे। इसके अलावा कोर्ट ने हिंसा म

आदेश- पूरी तरह से खुल जाएंगे एक मार्च से सभी स्कूल

लखनऊ/ उत्तर प्रदेश में करीब एक साल बाद एक मार्च से कक्षा एक से लेकर कक्षा पांच तक के बच्चों के लिए पूरी तरह से स्कूल खुल जाएंगे। जबकि छठी से लेकर आठवी तक के बच्चों की क्लास 10 फरवरी से लगेंगी। बता दें कि योगी आदित्यनाथ सरकार ने सभी बच्चों के लिए स्कूल खोलने का निर्णय किया है। जिसके तहत स्कूलों को फिर खोलने का आदेश शुक्रवार को जारी किया गया। उत्तर प्रदेश सरकार ने नए आदेश के मुताबिक 10 फरवरी से कक्षा 6 से 8वीं तक के छात्रों के लिए और 1 मार्च से पहली से पांचवी तक के बच्चों के लिए स्कूल खोले जाएंगे। इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा। ANI UP @ANINewsUP Schools to re-open for students of std 6-8 from 10th February and for students of std 1-5 from 1st March. #COVID19 protocol to be followed: Uttar Pradesh Government Sources:Agency News

टिप्पणियाँ

Popular Post