सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

लखीमपुर खीरी हिंसा: जांच कर रही एस.आई.टी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने के लिए निकाला विज्ञापन

    लखनऊ  /   लखीमपुर हिंसा कांड में उत्तर प्रदेश सरकार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी गवाहों को सुरक्षा देने के निर्देश के बाद विशेष अनुसंधान दल (एसआइटी) ने जांच की गति और तेज कर दी है। एसआइटी ने चश्मदीद गवाहों से साक्ष्य देने का अनुरोध करते हुए विज्ञापन निकाला है। विज्ञापन में एसआइटी अपने सदस्यों के संपर्क नंबर जारी किया है। प्रत्यक्षदर्शियों से आगे आकर अपने बयान दर्ज कराने और डिजिटल साक्ष्य प्रदान करने के लिए उनसे संपर्क करने का आग्रह करती किया है। एसआइटी का कहना है कि ऐसे लोगों की जानकारी गोपनीय रखी जाएगी और उन्हें पुलिस सुरक्षा दी जाएगी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश सरकार को आदेश दिया है कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के सभी गवाहों को गवाह सुरक्षा योजना, 2018 के मुताबिक पुलिस सुरक्षा दी जाए। साथ ही कोर्ट ने अन्य महत्वपूर्ण गवाहों के बयान भी सीआरसीपी की धारा-164 के तहत मजिस्ट्रेट के समक्ष जल्द दर्ज कराने का निर्देश देते हुए कहा कि अगर बयान दर्ज करने के लिए मजिस्ट्रेट उपलब्ध नहीं हैं तो जिला जज नजदीक के मजिस्ट्रेट से बयान दर्ज कराएंगे। इसके अलावा कोर्ट ने हिंसा म

शनिवार को प्रधानमंत्री मोदी गुजरात उच्च न्यायालय पर करेंगे डाक टिकट जारी

अहमदाबाद/ प्रधानमंत्री शनिवार को गुजरात उच्च न्यायालय की हीरक जयंती समारोह के मोके पर एक स्मारक डाक टिकट ऑनलाइन जारी करेंगे। उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार की ओर से आज जारी आधिकारिक बयान में इस आशय की जानकारी दी गई। गुजरात उच्च न्यायालय की स्थापना को एक मई 2020 को 60 साल पूरे हो गए। बयान के अनुसार प्रधानमंत्री के गुजरात उच्च न्यायालय के हीरक जयंती समारोह में व्यक्तिगत तौर पर शिरकत करने और डाक डिकट जारी करने का कार्यक्रम प्रस्तावित था लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण यह स्थगित हो गया। अब प्रधानमंत्री शनिवार को डिजिटल तौर पर डाक टिकट जारी करेंगे। उन्होंने कहा,प्रधानमंत्री के गुजरात उच्च न्यायालय की हीरक जयंती समारोह में शिरकत करेंगे और छह फरवरी 2021 को सुबह साढ़े दस बजे स्मारक डाक टिकट जारी करेंगे।बयान के अनुसार समारोह का आयोजन डिजिटल तौर पर होगा। प्रधानमंत्री लोगों को संबोधित करेंगे। विज्ञप्ति के अनुसार गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, गुजरात उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश विक्रम नाथ भी डिजिटल तौर पर लोगों को संबोधित करेंगे। Sources:IndianIdol

टिप्पणियाँ

Popular Post