हरिद्वार कुंभ मेला : बिना रोक-टोक होगा कुंभ का पहला स्नान

 


14 जनवरी मकर सक्रांति के दिन हो रहा कुंभ का पहला पर्व स्नान बिना रोक टोक के होगा। हरिद्वार आने वाले श्रद्धालु आसानी से हरिद्वार आ सकेंगे। इसके लिए किसी भी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन की आवश्यकता नहीं होगी। शाही स्नान के दिनों में रजिस्ट्रेशन करने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। हालांकि अभी तक इसे अंतिम रूप नहीं दिया गया है।

कुंभ के पहले पर्व स्नान की तैयारियां कुंभ मेला पुलिस ने शुरू कर दी है। पीएचक्यू से मेला पुलिस को स्नान कराने की अनुमति मिल चुकी है। जबकि अभी तक सरकार ने कुंभ मेले को लेकर नोटिफिकेशन जारी नहीं किया है। लेकिन 14 जनवरी को पड़ रहा पहला पर्व स्नान मेला पुलिस ही संपन्न कराएगी। इसके लिए मेला पुलिस लगातार अपनी तैयारियों को भी रख रही है।

दो चरणों की फोर्स के अलावा पैरामिलिट्री फोर्स हरिद्वार अपनी आमद दर्ज करा चुकी है। कोरोना को देखते हुए हरिद्वार आने वाले श्रद्धालुओं को वेब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद ही हरिद्वार आने दिए जाने की बातें सामने आ रही थी। लेकिन पहले पर्व स्नान पर किसी भी तरह का कोई रजिस्ट्रेशन लागू नहीं किया जाएगा। बिना रोक-टोक के श्रद्धालु आराम से हरिद्वार आ सकेंगे। हालांकि ट्रैफिक प्लान मेला पुलिस ने तैयार किया हुआ है। इसी प्लान को अप्लाई किया जाएगा।

हरिद्वार आने वाले लोगों के अलावा अन्य वाहनों को हरिद्वार की ओर नहीं भेजा जाएगा। स्थानीय पुलिस सीमा पर स्नान के दिन तैनात रहेगी। ताकि दोनों को डायवर्ट किया जा सके।

शाही स्नान के दिन वेब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने के बाद हरिद्वार आने की बंदिश लागू की जा सकती है। इसके लिए पोर्टल तैयार भी किया जा रहा है। शुरुआत के कुछ स्थानों में कोई रोक-टोक नहीं रहेगी। मार्च में होने वाले पहले शाही स्नान से कुछ दिन पूर्व वेब पोर्टल को लांच किया जा सकता है।

किसी भी घाट पर कर सकेंगे स्नान
शाही स्नान के दिन हरकी पैड़ी पर सामान्य श्रद्धालु स्नान नहीं कर सकेंगे। लेकिन पर्व स्नान पर श्रद्धालु हरकी पैड़ी समेत अन्य गंगा घाटों पर स्नान कर सकेंगे। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस की तैनाती गंगा घाटों पर रहेगी।

मकर सक्रांति के स्नान पर्व पर किसी भी तरह की कोई बंदिश नहीं रहेगी। श्रद्धालु आसानी पूर्वक हरिद्वार गंगा स्नान के लिए आ सकेंगे। - संजय गुंज्याल, कुंभ मेला आईजी

Sources:HINDUSTAN SAMACHAR