सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देहरादून: नाबालिग के साथ बाल वनिता आश्रम में दुष्कर्म, तबीयत खराब होने पर चला पता

    देहरादून /    राजधानी देहरादून के तिलक रोड स्थित बाल वनिता आश्रम में एक नाबालिग से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। दुष्कर्म का आरोपित भी आश्रम में ही रहता है। शहर कोतवाली पुलिस ने आश्रम के प्रधान की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है। आश्रम में निराश्रित और हर तरफ से ठुकराए बच्चे रहते हैं। इस समय आश्रम में करीब 50 बालक और बालिकाएं रह रही हैं। आश्रम में बालक और बालिकाओं के अलग-अलग हास्टल हैं, लेकिन खाना दोनों का एक साथ ही होता। बताया जा रहा है कि इसी दौरान बालक और बालिका के बीच नजदीकियां बढ़ गई और बालक ने बालिका के साथ दुष्कर्म किया। कुछ दिन पहले ही बालिका की तबीयत खराब हुई थी तो उसने इसकी शिकायत होस्टल वार्डन से की।बालिका से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि आश्रम में रहने वाले एक बालक ने उसके साथ दुष्कर्म किया। बालिका का मेडिकल करवाया जा रहा है। बालिका के गर्भवती होने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि, इसकी पुष्टि मेडिकल रिपोर्ट आने की बाद ही हो सकेगी। Sources:JNN

पूर्वांचल बन रहा साल्वर गैंग का नया केंद्र , ले रहे पुलिस भर्ती से लेकर टेट, सिविल सेवा उत्तीर्ण कराने का ठेका

  


गोरखपुर /  पूर्वांचल साल्वर गैंगों का नया केंद्र बन रहा है। कोई गैंग पुलिस में भर्ती कराने को ठेका ले रहा है तो दारोगा भर्ती परीक्षा उत्तीर्ण कराने का। कुछ गिरोह गोरखपुर व आस-पास के जिलों में सक्रिय हैं तो यहीं के रहने वाले गिरोह के कुछ सदस्य कानपुर व अन्य जिलों में। पूर्वांचल के सैकड़ों बेरोजगार को अपने झांसे में लेकर गिरोह के यह सदस्य लाखों की ठगी कर चुके हैं। तमाम लोग इस गैंग के सांठ-गांठ से विभिन्न सरकारी पदों पर नौकरी कर रहे हैं। इनकी संख्या कितनी है, यह कहां-कहां तैनात हैं, इसकी जानकारी न पुलिस को और न ही एसटीएफ टीम को।मंगलवार को एसटीएफ की गोरखपुर यूनिट ने रामगढ़ताल इलाके से एक ऐसे गैंग के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया, जिन्होंने 15 लाख रुपये में दारोगा बनाने का ठेका लिया। एसटीएफ के मुताबिक केंद्र संचालक की सांठ-गांठ से यह गिरोह बड़े पैमाने पर अभ्यर्थियों को पास कराने वाला था। एसटीएफ से इस गिरोह ने अभी तक सिर्फ इतना कबूला है कि इन्होंने दो लोगों से रुपये लेकर परीक्षा में बिठाया भी था। हालांकि अभी इसकी जांच पूरी नहीं हो सकी है कि उन्होंने सिर्फ दो लोगों से रुपये लिये थे अथवा वह अन्य लोगों को भी परीक्षा दिलवा चुके हैं। एसटीएफ अभी सिर्फ गिरोह के नित्यानंद गौड़, अनुभव सिंह, सेनापति साहनी को गिरफ्तार कर सकी है। बुधवार को एसटीएफ व शाहपुर पुलिस की संयुक्त टीम ने साल्वर गैंग के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया। यह गिरोह भी पुलिस भर्ती, टेट, सिविल सेवा आदि परीक्षाओं में लोगों को उत्तीर्ण कराने का ठेका लेता था।

Sources:JNN

टिप्पणियाँ

Popular Post