सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव.संग्राम 2022: भाजपा.और आप के बीच में छिड़ा स्टार वार,कांग्रेस कर रही इंतजार

      भाजपा व आप ने रणनीति के तहत स्टार वार का गेम शुरू किया है। दरअसल, आचार संहिता लागू होने पर वीवीआईपी की रैलियां कराने के लिए पूरा खर्चा प्रत्याशियों के खाते में शामिल होता है।  उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव से पहले स्टार वार शुरू हो चुका है। भाजपा और आम आदमी पार्टी अभी इसमें आगे चल रही है, जबकि कांग्रेस अभी इंतजार के मूड में है।   निर्वाचन आयोग की टीमों की इस पर पैनी नजर रहती हैं।  निर्धारित सीमा से ज्यादा खर्च होने की दशा में ऐसे प्रत्याशियों को आयोग के नोटिस झेलने पड़ते हैं और चुनाव के वक्त इनका जवाब देने में उनका समय अनावश्यक जाया होता है। भाजपा में सबसे ज्यादा डिमांड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की है। वे दो माह के भीतर उत्तराखंड के दो दौरे कर चुके हैं। पहले वे सात अक्तूबर को ऋषिकेश एम्स में आक्सीजन प्लांट जनता को समर्पित करने आए और इसके बाद पांच नवंबर को केदारनाथ धाम के दर्शन को पहुंचे। अब मोदी चार दिसंबर को दून में चुनाव रैली संबोधित करने आ रहे हैं। उधर, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस बीच दो दौरे कर चुके हैं। अक्तूबर में कुमाऊं के कई हिस्सों में आपदा के बाद वे रेस्क्यू आपरेशन

प्रतापगढ़ : समाज कल्याण विभाग के निदेशक के भाई पर लाठी से हमला, इलाज के दौरान मौत

 


 प्रतापगढ़ /  संगमनगरी प्रयागराज से सटे प्रतापगढ़ जिले में अपराध की गतिविधियों पर अंकुश नहीं लग पा पा रहा है। एक हफते में कई जगह पर मिलावटी शराब मिलने के बाद सोमवार को समाज कल्याण विभाग के निदेशक के भाई अश्विनी कुमार शुक्ला पर एक व्यकित ने लाठी से हमला कर दिया। हालत गंभीर होने पर उनको लखनऊ रेफर किया गया, जहां पर किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रामा सेंटर में उन्होंने देर रात में दम तोड़ दिया।

प्रतापगढ़ के महेशगंज थाना अंतर्गत पूरे हरकेश गांव में सोमवार की सुबह समाज कल्याण निदेशक राकेश शुक्ला के भाई अश्वनी कुमार को एक शख्स से उधार का पैसा वापस मांगने पर लाठी मार कर घायल कर दिया गया। लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इस प्रकरण में आरोपित ह्रदयलाल उर्फ दुम्मा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।अश्वनी कुमार शुक्ल (55 वर्ष) ने गांव के हृदय पाल उर्फ दुम्मा पुत्र कल्लू वनवासी को कुछ दिन पहले रूपये उधार दिए थे। रविवार रात अश्वनी को पता चला कि हृदयलाल ने अपनी जमीन बेची है।

 सोमवार सुबह करीब सात बजे वह उधार दिए गए रुपये मांगने के लिए ह्रदयलाल के घर पहुंचे थे। इस दौरान बातचीत के दौरान दोनों के बीच विवाद हो गया। गुस्से में आकर बकायेदार ह्रदयलाल उर्फ दुम्मा ने घर में रखी लाठी उठाकर अश्वनी के ऊपर हमला कर दिया। उनके सिर पर ताबड़तोड़ कई प्रहार कर दिए। उनका सिर फट गया। वह जमीन पर गिरकर तड़पने लगे। आसपास के लोग बचाने के लिए दौड़े। मौके पर उनके भाई बालकृष्ण भी घटना स्थल पर पहुंचे पर तब तक दुम्मा मौके से भाग गया। 

गंभीर घायल अश्वनी को इलाज के लिए रायबरेली जिला अस्पताल ले गए। वहां से हालत गंभीर देख लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। लखनऊ स्थित ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। सूचना मिलने पर पूरे गांव में शोक की लहर दौड़ गई। देर शाम एसओ महेशगंज आशुतोष त्रिपाठी ने दबिश देकर हत्यारोपित दुम्मा को हिरासत में ले लिया। सीओ सदर पवन त्रिवेदी ने कहा कि मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है।

टिप्पणियाँ

Popular Post