सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

09 दिसंबर से गैरसैंण में नहीं देहरादून में होगा विधानसभा का शीतकालीनसत्र

    विधानसभा अध्यक्ष  प्रेम चंद अग्रवाल ने बताया है की विधानसभा का   शीतकालीन सत्र   9 व 10 दिसंबर को देहरादून में आयोजित किया जाएगा। उन्होंने कहा है कि शीतकालीन सत्र को लेकर सरकार व नेता प्रतिपक्ष से बातचीत करने के उपरांत यह तय किया गया है कि सत्र देहरादून में ही आयोजित किया जाएगा l अग्रवाल ने कहा है कि मेरा प्रयास होगा इस सत्र के दौरान आजादी के 75 वर्ष पूरे होने पर अमृत महोत्सव के तहत भी एक दिन अतिरिक्त चर्चा के लिए रखा जाए। उन्होंने कहा है कि हालांकि यह सब कार्यमंत्रणा की बैठक में तय होगा परंतु उनकी इच्छा है कि अमृत महोत्सव को लेकर भी सदन में चर्चा  हो सकेl अग्रवाल ने बताया कि संसदीय कार्य मंत्री बंशीधर भगत एवं नेता प्रतिपक्ष  प्रीतम सिंह के साथ देहरादून में सत्र संचालन को लेकर चर्चा वार्ता की गयी थी और दोनों ही नेताओं ने देहरादून में सत्र को संचालित करने को लेकर अपनी सहमति दी है l

सचिन पायलट का भाजपा में शामिल होने से इनकार

 


 राजस्थान में कांग्रेस में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है। इन सबके बीच सचिन पायलट को लेकर अटकलबाजी का दौर लगातार जारी है। माना जा रहा है कि सचिन पायलट कांग्रेस से अलग हो सकते हैं। लेकिन इन कयासों पर सचिन पायलट ने अपनी चुप्पी तोड़ी है। सचिन पायलट ने साफ तौर पर कहा कि वह कांग्रेस पार्टी नहीं छोड़ रहे हैं और ना ही भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। यह दावा किया जा रहा था कि ज्योतिरादित्य सिंधिया और जितिन प्रसाद के रास्ते पर ही चलकर सचिन पायलट भी भाजपा का दामन थाम सकते हैं। लेकिन इन सब बातों से सचिन पायलट ने साफ तौर पर इंकार किया है।

इतना ही नहीं, सचिन पायलट आज सुबह पिता राजेश पायलट को श्रद्धांजलि देने के बाद जयपुर में कांग्रेस के देशव्यापी विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। यह प्रदर्शन पेट्रोल डीजल के बढ़ते दाम को लेकर किया गया है। इस दौरान सचिन पायलट ने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। न्यूज़ एजेंसी से बातचीत में सचिन पायलट ने कहा कि केंद्र सरकार का अहंकार टूटेगा। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की इस मुहिम का सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। सरकार आंख-कान बंद करके बैठी है। सरकार को पेट्रोल-डीज़ल के दाम कम करने पड़ेंगे।  

 

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश