IMA:दुश्मनों की जगह आपस में भिड़े भारतीय और विदेशी कैडेट्स, कोर्ट ऑफ इंक्वायरी तलाशेगी वजह

 

भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) देहरादून में कैडेटों के बीच हुई मारपीट की घटना को सेना ने गंभीरता से लिया है। छह विदेशी और चार भारतीय जेंटलमैन कैडेटों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की है। जानकारी के अनुसार, इस साल तीन मार्च को आईएमए में कैडेट्स के बीच मारपीट की घटना हुई। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल हुआ। सेना ने घटना की कोर्ट ऑफ इंक्वायरी की। आरोप सही पाये जाने पर यह कार्रवाई की गई। बीती तीन मार्च को सैन्य अकादमी में तजाकिस्तान और भारतीय कैडेटों के बीच मारपीट की घटना हुई थी। इसके बाद तजाकिस्तान के राजदूत और रक्षा अटैची ने भी अकादमी का दौरा किया था। 10 मार्च को मामले की कोर्ट ऑफ इंक्वायरी बैठा दी। जिसमें पाया गया कि सैन्य प्रशिक्षण ले रहे कुछ कैडेटों ने अनुशासन का उल्लंघन किया है। वहीं बटालियन स्तर के एक अधिकारी को भी कारण बताओ नोटिस भेजा गया था। हालांकि सैन्य अधिकारी ने इस मामले में खुद की चूक मानने से साफ इनकार किया है।

कार्रवाई को एक समान नीति अपनाई
सेना मुख्यालय की विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस घटना में एक विदेशी मित्र देश के कुछ जेंटलमैन कैडेट शामिल थे। सेना ने सभी प्रशिक्षुओं के लिए एक समान नीति का मानदंड सुनिश्चित करते हुए मामले की जांच कराई। जांच में दोषी पाए जाने पर सभी दस कैडेटों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की गई है। हालांकि, कैडेटों पर क्या कार्रवाई की गई, यह स्पष्ट नहीं किया गया है।


Sources:HindustanSamachar