सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Featured Post

देवस्थानम बोर्ड को निरस्त करने की घोषणा का स्वागत

  उत्तराखंड सरकार ने आज देवस्थानम बोर्ड को निरस्त करने का  ऐतिहासिक फैसला लिया है । ब्राह्मण समाज महासंघ उत्तराखंड इस निर्णय का स्वागत करता है।करीब 2 वर्ष पहले जब यह नया कानून उत्तराखंड राज्य की देवभूमि में बना तभी से ब्राह्मण समाज महासंघ लगातार इसका विरोध करता आया है । मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव को ज्ञापन देकर व सड़क पर आकर तीर्थ पुरोहित समाज के लिए उनकी रक्षा के लिए  ब्राह्मण समाज महासंघ सदैव इस कार्य में अग्रणी रहा है।गत 5 सितंबर को  देवभूमि की राजधानी देहरादून में गांधी पार्क पर ब्राह्मण समाज महासंघ ने एक विरोध प्रदर्शन तीर्थ पुरोहित जनेऊ  खंडित करने व देवस्थानम बोर्ड को भंग करने के लिए किया था। आज सरकार के इस निर्णय से देवभूमि के पुरोहित व पंडा समाज के सम्मान की रक्षा हुई है ।हम आशा करेंगे कि देवभूमि की सरकारें तीर्थ पुरोहित समाज, ब्राह्मण समाज का सम्मान व उनकी भावनाओं की रक्षा करते हुए इसी तरह से भविष्य में भी कार्य करेंगे।महासंघ के संरक्षक श्री लालचन्द शर्मा जी ने श्री राम परशुराम मन्दिर में चतुर्वेद विधालय में शिक्षा ग्रहण कर रहे सनातन धर्म के धर्म रक्षको व ब्राह्मण समाज महासंघ क

हरिद्वार कुंभ-अब तक अखाड़ों के 50 से ज्यादा संत कोरोना पॉजिटिव,एक की मौत

  


 हरिद्वार /  कोरोना से निर्वाणी अणि अखाड़े के एक संत की मौत और अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि समेत करीब 51 से संतों के संक्रमित होने से संत समाज सहमा हुआ है। संतों के अनुरोध पर 14 अप्रैल तक अखाड़ों में कोरोना जांच से गुरेज कर रहे स्वास्थ्य महकमे ने अब अखाड़ों का रुख किया है। जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक समेत 200 संतों के लिए सैंपल लिए गए। इससे पहले करीब 90 संतों के सैंपल लिए जा चुके हैं। वहीं, गुरुवार को अखाड़ों के नौ संत समेत गुरुवार को जिले में कोरोना के 629 मामले सामने आए हैं। कुंभ का मुख्य शाही स्नान संपन्न होते ही अखाड़ों में सैंपलिंग शुरू हो गई है। मेला स्वास्थ्य विभाग की ओर से श्रीपंचदशनाम जूना अखाड़े में शिविर लगाकर अखाड़ा के कई बड़े पदाधिकारियों के साथ-साथ साधु संतों की कोराना जांच के लिए सैंपल लिए गए। इनमें अंतरराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि, श्रीमहंत प्रेमगिरि, अखाड़ा के अंतरराष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीमहंत नारायण गिरि, अंतरराष्ट्रीय सचिव श्रीमहंत महेशपुरी, श्रीमहंत मोहन भारती समेत कई बड़े संत शामिल रहे। अंतरराष्ट्रीय संरक्षक श्रीमहंत हरिगिरि महाराज ने कहा कि इस समय वैश्विक महामारी का दौर है। ऐसे में सरकार की ओर से कोविड गाइडलाइन का पालन करना सभी का दायित्व है। उन्होंने कहा कि आम लोगों के साथ-साथ हर साधु संत को कोविड गाइडलाइन का पालन करना चाहिए। अंतरराष्ट्रीय प्रवक्ता श्रीमहंत नारायण गिरि महाराज ने कहा कि महामारी के बावजूद कुंभ मेले का मुख्य शाही स्नान सकुशल संपन्न हो गया। यह सभी के लिए राहत के साथ-साथ खुशी की बात है। उन्होंने आह्वान किया कि सभी कोविड के नियमों का पालन करें। उन्होंने सभी से गाइडलाइन का पालने करने का आह्वान किया है। 

हरिद्वार में एक पखवाड़े में करीब चार हजार संक्रमित 

कोरोना का हॉटस्पॉट बनी धर्मनगरी में रोजाना बड़ी संख्या में संक्रमित मामले सामने आ रहे हैं। महज एक पखवाड़े में ही करीब चार हजार मामलों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है। बैशाखी स्नान के पांच रोज बाद सभी फ्रंट लाइन वर्कर की कोरोना जांच होनी है। मेला स्वास्थ्य विभाग की ओर से सैंपलिंग में और तेजी लाने की बात कही जा रही है। कुंभ के बीच बढ़ते कोरोना के मामलों ने स्वास्थ्य विभाग की पेशानी पर बल डाल दिया है।

टिप्पणियाँ

Popular Post

चित्र

बदायूं: बिसौली आरक्षित सीट को लेकर राजनीतिक दलों में गहन मंथन, भाजपा से सीट छीनने की फिराक में सपा आशुतोष मौर्य पर फिर खेल सकती है दांव

चित्र

त्रिपुरा हिंसा : सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्‍य सरकार को दो हफ्ते के भीतर जवाब देने के दिए निर्देश